Sunday , December 17 2017

दहेज के लालची मां-बेटी को जला कर मार डाला !

जरमुंडी थाना इलाक़े के झकिया गांव में जुमेरात की सुबह दहेज के लालची ससुरालवालों ने एक शादीशुदा खातून और उसकी डेढ़ साला बच्ची को केरोसिन उड़ेलकर जिंदा जला दिया। आनन-फानन में दोनों को दुमका सदर अस्पताल लाया गया। डॉक्टरों ने बच्ची क

जरमुंडी थाना इलाक़े के झकिया गांव में जुमेरात की सुबह दहेज के लालची ससुरालवालों ने एक शादीशुदा खातून और उसकी डेढ़ साला बच्ची को केरोसिन उड़ेलकर जिंदा जला दिया। आनन-फानन में दोनों को दुमका सदर अस्पताल लाया गया। डॉक्टरों ने बच्ची को मारा का ऐलान कर दिया। बोकारो जेनरल हॉस्पीटल रेफर किये जाने के बाद बच्ची की वालिदा ने भी रास्ते में नाला ब्लॉक के नजदीक दम तोड़ दी। वह 90 फीसद से ज़्यादा झुलस गयी थी।

ससुरालवालों पर जलाने का इल्ज़ाम

मर चुकी खातून के वालिद ने पुलिस को तहरीरी शिकायत कर इल्ज़ाम लगाया कि ससुर महेंद्र मसात, बीवी गुंजन देवी, देवर डमरू यादव, सास बिमली देवी ने उसकी बेटी और नतीनी को जलाकर मार डाला है। उसने कहा कि तमाम मुल्जिमान ने मिलकर उसकी बेटी पर केरोसिन उड़ेल कर जला दिया। वालिद के मुताबिक, तीन साल पहले उसकी बेटी की शादी हुई थी। दहेज भी दिया था। लेकिन ससुरालवाले लगातार दहेज के लिए उसे परेशान करते रहते थे।

इत्तिला मिलने पर पुलिस जाये हादसा पर पहुंची। इसके बाद मां-बेटी का इलाज के लिए हॉस्पिटल जरमुंडी लाया। जहां उसकी डेढ़ साल की बेटी की मौत हो गयी। संगीन हालत में डाक्टर ने बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया। दुमका सदर अस्पताल से बोकारो ले जाने के दौरान रास्ते में ही उसकी मौत हो गयी। वाकिया के बाद तमाम मुल्ज़िम घर से फरार हो गया। बाद में पुलिस ने सास बिजली देवी और ससुर महेंद्र मसात को गिरफ्तार कर थाने ले आया।

TOPPOPULARRECENT