दहेज में मांगे 3 लाख ज्यादा, लड़की ने दी जान

दहेज में मांगे 3 लाख ज्यादा, लड़की ने दी जान
दहेज की वजह शादी टूटने से परेशान मनीषा ने खुदकशी कर ली। उसने चलती ट्रेन से कूदकर अपनी जान दे दी। इस मामले को लेकर जहां कई एनजीओ के लोग मुल्ज़िम के खिलाफ मामला दर्ज करने की आवाज उठा रहे हैं, वहीं सिवान पुलिस और जीआरपी ने इस मामले में कि

दहेज की वजह शादी टूटने से परेशान मनीषा ने खुदकशी कर ली। उसने चलती ट्रेन से कूदकर अपनी जान दे दी। इस मामले को लेकर जहां कई एनजीओ के लोग मुल्ज़िम के खिलाफ मामला दर्ज करने की आवाज उठा रहे हैं, वहीं सिवान पुलिस और जीआरपी ने इस मामले में किसी तरह का एफआईआर करने से इंकार कर दिया है। जीआरपी थाना का कहना है कि शादी हुई नहीं थी, इस वजह से दहेज का मामला नहीं बनता है।

मामला सिवान का है। मनीषा की शादी सिवान के ही आशीष से तय हुई थी। 15 दिनों के बाद आशीष और मनीषा की शादी होनी थी। शादी को लेकर सारी बातें हो गई थी। दोनों तरफ से तैयारी भी शुरू हो गई थी, लेकिन आशीष के वालिद ने दहेज के तौर में पहले से तय रकम में तीन लाख रूपए और बढ़ा दिया। अचानक इस नए फरमान को मानने से इंकार करने पर आशीष के वालिद ने मनीषा (लडक़ी) के वालिद को पहले जूता से मारा और फिर कुर्सी से नीचे गिरा दिया।
बावजूद मनीषा के वालिद अपनी बेटी की शादी के लिए आशीष के वालिद के पास अपनी आरजू मिन्नत करते रहे। मामला नहीं बनने पर वे थक हार कर अपने घर आ गए और अपने साथ हुई पूरी वाकिया अपने खानदान वालों को बता दिया। ये मामला जब लडक़ी (मनीषा) को पता चला तो वो परेशान हो गई और चलती ट्रेन से कूद कर खुदकशी कर ली।

मनीषा ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि वो दूल्हन बनना चाहती थी, लेकिन लडक़ा वालों से परेशान हो कर खुदकशी करने का फैसला लिया है। मनीषा ने लिखा है कि शादी से पहले शादी टूटने का दर्द वो लडक़ी ही जान सकती है जिसके साथ ये वाकिया हुई है। मैंने समाज के ताना और अपने वालिद के बेजती से परेशान होकर ये फैसला लिया है। इसमें मेरे किसी खानदान की कोई किरदार नहीं है। मेरे इस फैसले की जानकारी भी मेरे खानदान वालों को नहीं है। मनीषा ने अपने सुसाइड नोट में आशीष और उसके खानदान के खिलाफ कार्रवाई की गुहार भी लगाई है।

Top Stories