Friday , August 17 2018

दाअश के ख़िलाफ़ अलक़ायदा की मदद करने अमरीका को मश्वरा

वाशिंगटन: अमरीका के खु़फ़ीया तहक़ीक़ाती इदारे सेंटर्ल इंटेलिजेंस एजेन्सी (सी आई ए) के साबिक़ चीफ़ और रिटायर्ड जनरल डेविड पीटरयास का कहना है कि वो चाहते है कि अमरीका को शाम में दाअश के ख़िलाफ़ अलक़ायदा की ज़ेली तंज़ीम के साथ काम करने के बारे में सोना चाहिए।

ख़बररसां इदारे ए एफ़ पी के मुताबिक़ अमरीका के रियासती नशरियाती इदारे सी एन एन को दिए जानेवाले एक बयान में पीटर्स का कहना था कि अलक़ायदा की ज़ेली तंज़ीम अलनसरा फ्रंट को दाअश के ख़िलाफ़ इत्तेहाद का हिस्सा बनने के लिए क़ाइल किया जा सकता है।

उन्होंने कहा कि इराक़ और शाम में मुसल्लह कार्यवाहीयां करने वाली शिद्दत-पसंद तंज़ीम दाअश के ख़िलाफ़ हमें किसी भी हालत में अलनसरा फ्रंट को इस्तेमाल या उनको मदद फ़राहम करनी चाहिए। साबिक़ सी आई ए चीफ़ का कहना था कि अलनसरा फ्रंट से ताल्लुक़ रखने वाले कुछ जंगजू नज़रियात के बजाय दीगर वजूहात की बिना पर दाअश के ख़िलाफ़ इत्तेहाद का हिस्सा बनना चाहेंगे।

पीटरयास का नाम अमरीका में इस वक़्त मंज़र-ए-आम पर आया था जब उन्होंने 2007 में इराक़ में फ़ौजीयों के इज़ाफे़ की निगरानी की थी और इस वक़्त अमरीकी रहनुमा इराक़ के जंगी नताइज से बेहद परेशान थे। डेली बैस्ट के मुताबिक़ बेशतर अमरीकी हुक्काम ने साबिक़ सी आई ए के इन ख़्यालात को सियासी तौर पर ख़तरनाक क़रार देते हुए नाक़ाबिल अमल क़रार दे दिया है। याद रहे कि रवां साल 62 साला पीटरयास को अपनी बीवी को खु़फ़ीया राज़ फ़राहम करने का इल्ज़ाम साबित होने पर एक लाख डालर जुर्माने की सज़ा सुनाई गई थी।

TOPPOPULARRECENT