Thursday , December 14 2017

दाइश का 14 साला कमसिन जिहादी मुनहरिफ़

शाम का एक 14 साला तालिबे इल्म ख़ुदकुश बमबार हमला करने के लिए इराक़ के शीआ अक्सरीयती इलाक़ा में पहुंचने के बाद दहश्तगर्द तंज़ीम दाइश से मुनहरिफ़ हो गया।

शाम का एक 14 साला तालिबे इल्म ख़ुदकुश बमबार हमला करने के लिए इराक़ के शीआ अक्सरीयती इलाक़ा में पहुंचने के बाद दहश्तगर्द तंज़ीम दाइश से मुनहरिफ़ हो गया।

सऊदी अरब के अंग्रेज़ी रोज़नामा अरब न्यूज़ में शाय शूदा एक ख़बर के मुताबिक़ 14 साला शामी लड़का उसेद बरहो बग़दाद के पड़ोसी टाउन बाइया की शीआ मस्जिद में ख़ुदकुश बमबार हमला करने के लिए दाइश की तरफ़ से भेजा गया था, ताहम मस्जिद पहुंचने के बाद उसेद ने इंतिहाई तबाहकुन धमाका ख़ेज़ मवाद से लदा अपना जैकिट उतार दिया और इन्किशाफ़ किया कि वो इस शीआ मस्जिद में ख़ुदकुश धमाका करने के लिए भेजा गया था, लेकिन वो धमाका करना नहीं चाहता।

इस जैकिट को उतारकर कोने में रख दिया गया है जिस के करीब कोई ना जाए। इस इन्किशाफ़ के बाद सारी मस्जिद में सनसनी और अफ़रातफ़री फैल गई। सादा लिबास में मलबूस पुलिस वहां पहुंच गई, उस लड़के और इस के ज़र्द जैकिट को अपने क़ब्ज़ा में ले लिया।

खु़फ़ीया मुक़ाम पर उस की तफ़सीली पूछ-गछ की गई। उसेद ने कहा कि दाइश के सरगनों ने उस की ग़लत ज़हन साज़ी करते हुए मसलकी नफ़रत पैदा की और झूटी अफ़्वाहों से ख़ौफ़ज़दा भी किया। उसेद ने ख़ुदकुश हमला करने की ख़ाहिश इस लिए ज़ाहिर की कि इस बहाने वो दाइश अस्करीयत पसंदों के चंगुल से आज़ाद हो सकता था।

TOPPOPULARRECENT