Tuesday , December 19 2017

दाऊद के फोन रिकार्ड में आया एक वज़ीर का नाम

मुंबई, 20 जुलाई: ईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग और सट्टेबाजी में अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम कराची से बैठे-बैठे 'खेल' खेल रहा था, तो हिंदुस्तान में एक मरकज़ी वज़ीर भी उसके राबिते में थे।

मुंबई, 20 जुलाई: ईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग और सट्टेबाजी में अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम कराची से बैठे-बैठे ‘खेल’ खेल रहा था, तो हिंदुस्तान में एक मरकज़ी वज़ीर भी उसके राबिते में थे।

आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग में दाऊद शामिल होने की बात पूरी तरह साबित हो गई है। आईबी और रॉ ने आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल से मिले वॉयस सैंपल ( ‍Voice Sample) के दाऊद इब्राहिम के होने की तस्दीक कर दी है। दाऊद और बुकी की इस बातचीत में बार-बार एक मरकज़ी वज़ीर का जिक्र आता है। सबसे बड़ा सवाल यही है कि दाऊद का यह मंत्री आखिर है कौन?

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 26 मार्च को दाऊद की दुबई के बुकी और बिजनेसमैन जावेद चुटानी की बातचीत रिकार्ड करने में कामयाबी हासिल की थी। दाऊद ने रात करीब साढ़े नौ बजे 9233332064XXX नंब से बात की थी। दिल्ली पुलिस ने यह वॉयस सैंपल जांच के लिए सेक्युरिटी एजेंसियों को भेजा था।

दोनों एजेंसियों ने पिछले महीने दिल्ली पुलिस को लिखा है कि पाकिस्तानी नंबर 9233332064XXX को अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम और छोटा शकील इस्तेमाल कर रहा था। यह पहली बार है जब दाऊद इब्राहिम की आवाज का नूमना जांच एजेंसियों के हाथ लगा है। दाऊद, बुकी और चुटानी की बातचीत में बार-बार एक मरकज़ी वज़ीर का जिक्र आता है। ऐसे में यह सवाल उठ रहे हैं कि यह वज़ीर कौन था और आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग में उसका क्या किरदार था? जांच एजेंसियां भी इस बातचीत से मिले क्लू से मामले की तह तक जाने की कोशिशों में जुटी हैं।

पढ़िए, 26 मार्च को रिकॉर्ड की गई दाऊद और बुकी की गुफ्तगु के तराश (Part of interaction)

दाऊद 9233332064XXX : सलाम वालेकुम
दूसराः वालेकुम सलाम भाई
दाऊदः (यहां पर दाऊद की आवाज साफ नहीं सुनाई देती)
दूसराः भाई सात मिलियन का ऑफर दे रहा है
दाऊदः आठ से कम नहीं लेना
दूसराः नहीं ना? आठ से बिल्कुल कम नहीं
दाऊदः हां, आठ से कम नहीं
दूसराः ठीक है
दाऊदः आठ बोलकर छोड़ दे
दूसराः एक मिनट, चुटानी से बात करना , सलाम वालेकुम हेलो
दाऊदः वालेकुम सलाम सेठ क्या हाल है?
जावेद चुटानीः सर, दो कार्टन ले लिया है और.. (यहां पर आवाज साफ सुनाई नहीं देती ) …मैं जाऊंगा तो उधर.. होंगे.. तो एक दो और ले लूंगा।
दाऊदः ठीक है। मेहरबानी यार बहुत थैंक यू
चुटानीः पक्की बात है
दाऊदः 100 पर्सेंट
चुटानीः ओके सर, अपने मिनिस्टर साहब से पूछ लीजिएगा।
दाऊदः मिनिस्टर के मुंह लगेगा तो… (दाऊद यहां पर खराब अल्फाज़ इस्तेमाल करता है। कहने का मतलब है कि मिनिस्टर के मुंह लगोगे तो मुश्किल में फंसोगे)
चुटानीः अच्छा, मुंह लगने जैसा नहीं है।
दाऊदः मुंह लगने जैसा नहीं है? रात को बात करा देता हूं।

————बशुक्रिया: नवभारत टाइम्स

TOPPOPULARRECENT