Saturday , December 16 2017

दागदार वुज़रा के मसला पर असेंबली में तात्तुल बरक़रार

रियास्ती क़ानूनसाज़ असेंबली में तेलगू देशम पार्टी ने दागदार वुज़रा के मसला पर आज मुसलसल चौथे दिन ऐवान की कार्रवाई में रुकावट पैदा करदी। सुप्रीम कोर्ट की जानिब से जगन मोहन रेड्डी के असासा जात से मुताल्लिक़ केस में जिन वुज़रा को

रियास्ती क़ानूनसाज़ असेंबली में तेलगू देशम पार्टी ने दागदार वुज़रा के मसला पर आज मुसलसल चौथे दिन ऐवान की कार्रवाई में रुकावट पैदा करदी। सुप्रीम कोर्ट की जानिब से जगन मोहन रेड्डी के असासा जात से मुताल्लिक़ केस में जिन वुज़रा को नोटिसें जारी की गईं, उन की काबीना से बरतरफ़ी का मुतालिबा करते हुए तेलगू देशम अरकान ने एहतिजाज किया।

आज मुसलसल चौथे दिन इसी मसला पर ऐवानमें कोई कार्रवाई ना होसकी और स्पीकर ने तीन मर्तबा इजलास मुल्तवी करने के बाद असेंबली को दिन भर केलिए मुल्तवी करदिया। स्पीकर एन मनोहर ने इस तनाज़ा की यकसूई केलिए फ़्लोर लीडर्स का इजलास तलब किया लेकिन तेलगू देशम पार्टी अपने मौक़िफ़ पर क़ायम रही। आज सुबह जैसे ही कार्रवाई शुरू हुई,

स्पीकर ने सी पी आई और सी पी ऐम की दो तहरीकात अलतवा को नामंज़ूर करदिया, जिस के बाद तेलगू देशम अरकान नारा लगाते हुए स्पीकर के पोडियम तक पहुंच गए। उन्हों ने स्पीकर के पोडियम को घेर लिया और छः दागदार वुज़रा की बरतरफ़ी का मुतालिबा किया। स्पीकर ने कहा किऐवान में इसी मसला पर मुसलसल तीन दिन ज़ाए हो चुके हैं लिहाज़ा आज कम अज़ कम वकफ़ा-ए-सवालात को चलने की इजाज़त दी जाय।

तेलगू देशम अरकान के रवैय्ये में कोई तबदीली ना होने पर स्पीकर ने इजलास को 15 मिनट केलिए मुल्तवी करदिया। 10 बजे जब दूसरी मर्तबा कार्रवाई शुरू हुई तो स्पीकर ने तेलगू देशम अरकान से बारहा अपील की कि वो एहतिजाज तर्क करदें क्योंकि हुकूमत इस मसला पर सुप्रीम कोर्ट की नोटिस मिलने के बाद ही कोई जवाब देगी। तेलगू देशम के अरकान नारा बाज़ी करते हुए स्पीकर के पोडियम तक पहुंच गए और कार्रवाई में रुकावट पैदा की।

स्पीकर ने कहा कि कम अज़ कम अरकान को ज़ीरो ओवर में अपने इलाक़ों के मसाइल पेश करने का मौक़ा दिया जाना चाहीए। इन मनोहर ने एक मरहला पर तेलगू देशम अरकान की हट धर्मी पर नाराज़गी का इज़हार किया और कहा कि ऐवान में नारा बाज़ी इंतिहाई बद बख्ताना है। उन्हों ने कहा कि ऐवान का वक़ार मल्हूज़ रखना चाहीए और तेलगू देशम अरकान का रवैय्या ठीक नहीं। उन्हों ने कहा कि अगर अरकान कुर्सी-ए-सदारत से तआवुन ना करें तो स्पीकर कुछ नहीं कर पाइं गे।

उन्हों ने अरकान से ख़ाहिश की कि वो ऐवान का वक़्त ज़ाए होने ना दें। वज़ीर उमूर मुक़न्निना सिरीधर बाबू ने इस मरहले पर मुदाख़िलत की और कहा कि एक ही मसला पर गुज़श्ता तीन दिन से ऐवान का वक़्त ज़ाए किया जा रहा है और वकफ़ा-ए-सवालात में अहम अवामी मसाइल नजरअंदाज़ हो रहे हैं। उन्हों ने तेलगू देशम अरकान को मश्वरा दिया कि वो वुज़रा के ख़िलाफ़ किए गए अपने रिमार्कस को वापिस लें।

अपोज़ीशन का इस तरह का रवैय्या ठीक नहीं। रियास्ती वुज़रा पर किसी इल्ज़ाम के बगै़र ही बेबुनियाद इल्ज़ामात आइद किए जा रहे हैं। स्पीकर ने तेलगू देशम के एहतिजाज के दौरान ही चार मह्कमाजात के मुतालबात-ए-ज़र को पेश करने की हिदायत दी और इजलास को निस्फ़ घंटे के लिए मुल्तवी करदिया। एक घंटे के बाद जब कार्रवाई तीसरी मर्तबा शुरू हुई तो स्पीकर ने कहा कि बर्क़ी और किसानों के मसला पर मुबाहिस बाक़ी हैं।

तेलगू देशम अरकान ने एहतिजाज जारी रखा जिस पर स्पीकर ने सिर्फ 5 मिनट में इजलास को निस्फ़ घंटे केलिए मुल्तवी करदिया और फ़्लोर लीडर्स को अपने चैंबर में तलब किया। फ़्लोर लीडर के इजलास में ऐवान में तात्तुल ख़तम करने के मसला पर इत्तिफ़ाक़ राय ना हो सका। असेंबली की कार्रवाई चौथी मर्तबा 12 बजकर 40 मिनट पर शुरू हुई और तेलगू देशम अरकान दुबारा एहतिजाज करने लगे।

वज़ीर उमूर मुक़न्निना सिरीधर बाबू ने कहा कि जिन 26 जी औज़ के बारे में अपोज़ीशन एहतिजाज कर रही है, वो जी औज़ इंटरनैट पर दस्तयाब हैं। उन्हों ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की नोटिस जिन वुज़रा को भी मिलेगी, उस की तफ़सीलात ऐवान में पेश की जाएंगी और हुकूमत अपना मौक़िफ़ वाज़िह करेगी। उन्हों ने कहा कि हुकूमत ख़ुद भी इंतिज़ार कररही है कि सुप्रीम कोर्ट से किसे नोटिस मिलती है।

हुकूमत, अवाम और ऐवान को अपने मौक़िफ़ से आगाह करेगी। कुर्सी-ए-सदारत पर मौजूद डिप्टी स्पीकर भट्टी विक्रामा रुका ने तेलगू देशम के मुसलसल एहतिजाज को देखते हुए 10 मिनट बाद ऐवान की कार्रवाई को कल तक केलिए मुल्तवी करदिया। इस तरह दागदार वुज़रा के मसला पर मुसलसल चौथे दिन असेंबली में आज कोई कार्रवाई ना हो सकी।

TOPPOPULARRECENT