Friday , December 15 2017

दागदार वुज़रा पर चीफ़ मिनिस्टर की इंतिज़ार करो और देखो पालिसी

हैदराबाद 10 अप्रैल: चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी कड़पा के रुकन पार्लीमैंट वाई एस जगन मोहन रेड्डी से मुताल्लिक़ ग़ैर मह्सूब असासा जात केस में रियास्ती काबीना की एक और वज़ीर के ख़िलाफ़ चार्ज शीट पेश करने के बावजूद किसी किस्म की तशवीश न

हैदराबाद 10 अप्रैल: चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी कड़पा के रुकन पार्लीमैंट वाई एस जगन मोहन रेड्डी से मुताल्लिक़ ग़ैर मह्सूब असासा जात केस में रियास्ती काबीना की एक और वज़ीर के ख़िलाफ़ चार्ज शीट पेश करने के बावजूद किसी किस्म की तशवीश नहीं रखते।

अगर चेके सबीता इंदिरा रेड्डी के ख़िलाफ़ चार्ज शीट पर कांग्रेस हुकूमत दबाओ का शिकार होगई है। चीफ़ मिनिस्टर एसा मालूम होता है कि इस चार्ज शीट के बावजूद वज़ीर-ए-दाख़िला सबीता इंदिरा रेड्डी का इस्तीफ़ा कुबूल करने तैयार हैं और ना ही उन्हें काबीना से बरतरफ़ करने के मूड में हैं। ना सिर्फ़ अप्पोज़ीशन पार्टीयों की तरफ से बल्के हुक्मराँ कांग्रेस के एक गोशे से भी परज़ोर मुतालिबा किया जा रहा है कि सबीता इंदिरा रेड्डी को बरतरफ़ किया जाये।

इस के बावजूद किरण कुमार रेड्डी कह रहे हैं कि इस मसले को कांग्रेस हाईकमान के सपुर्द कर दिया गया है। पिछ्ले अगस्त में वज़ीर इमारात-ओ-शवारा धर्मना प्रसाद राव‌ के केस में भी ईसी तरह की सूरत-ए-हाल रेनुमा हुई थी, जिन का नाम जगन के केस से मरबूत किया गया है।

इस मसले को हाईकमान ने ही हल किया था।आज सुबह काबीनी रफ़क़ा से ग़ैर रस्मी मुलाक़ात के दौरान बताया जाता है कि किरण कुमार रेड्डी ने इस तवक़्क़ो का इज़हार किया कि सबीता इंदिरा रेड्डी के ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई नहीं होगी।

इन का एहसास है कि सब से पहले सी बी आई की ख़ुसूसी अदालत को सी बी आई चार्ज शीट को बतौर दस्तावेज़ कुबूल करना चाहीए जिस में सबीता इंदिरा रेड्डी का नाम मुल्ज़िम की हैसियत से शामिल है।

अगर एसा होता है तो इस के बाद हम देखेंगे कि अदालत क्या क़दम उठाती है। सबीता इंदिरा रेड्डी की गिरफ़्तारी ज़रूरी होती है तो एसी सूरत में उन्हें इस्तीफ़े के लिए कहा जाएगा।

ये फ़ैसला भी किया गया है कि इस मुआमले को पार्टी हाईकमान से रुजू किया जाये ताके ये बताया जा सके कि अगर सबीता इंदिरा रेड्डी को बरतरफ़ कर दिया गया तो दीगर वुज़रा भी मुतास्सिर होंगे जिन पर सी बी आई की पहले से ही नज़र है।

सी बी आई भी अपने आइन्दा के लायेहा-ए-अमल से हुकूमत को बेख़बर रख कर परेशानकुन सूरत-ए-हाल पैदा कररही है। इस सिलसिले में सबीता इंदिरा रेड्डी का कहना है कि उन्हों ने कल रात ही चीफ़ मिनिस्टर से मुलाक़ात की और कहा कि उन्हों ने अपने तौर पर कुछ नहीं किया बल्के चीफ़ मिनिस्टर राज शेखर रेड्डी की हिदायात पर ही अमल किया था।

TOPPOPULARRECENT