Friday , November 24 2017
Home / Uttar Pradesh / दादरी हत्याकांड के आरोपी के शव को तिरंगे में लपेटा, साम्प्रदायिक तनाव बढ़ाने की कोशिश

दादरी हत्याकांड के आरोपी के शव को तिरंगे में लपेटा, साम्प्रदायिक तनाव बढ़ाने की कोशिश

बिसहड़ा। दादरी हत्याकांड में एक आरोपी रवि की मौत हो गई। रवि बिमारी के कारण दिल्ली के अस्पताल में भर्ती कराए गए थे। मौत के बाद जब उनकी बॉडी बिसहड़ा पहुंची तो राजनीति शुरु हो गई। शव को तिरंगे में लपेट कर शहीद का दर्जा दिए जाने की मांग करने लगे। तथाकथित हिंदू नेता लगातार बिसाहड़ा पहुंच रहे हैं और अपने भड़काऊ भाषण से माहौल को फिर से सांप्रदायिक रंग में रंगना चाहते हैं। क्या किसी ऐसे शख्स के शव को तिरंगे में लपेटना सही होगा जिसपर किसी की हत्या का आरोप लगा हो? तिरंगा देश के लिए मरने वाले लोगों की लाश पर रखा जाता है।

मालूम हो कि ठीक एक साल पहले बिसाहड़ा में सांप्रदायिक तनाव का माहौल था क्योंकि अखलाक के परिवार पर एक हिंसक भीड़ ने देररात हमला कर दिया था। भीड़ का मानना था कि अखलाक के परिवार ने गोहत्या की है और उसका मांस खाया है। भीड़ का गुस्सा जबतक शांत होता तब अखलाक अपनी जान गंवा चुका था और उसका छोटा दानिश मौत के मुहाने पर तड़प रहा था।

TOPPOPULARRECENT