Monday , December 18 2017

दावा

बेरूत। शाम में बाग़ीयों ने एक हमले के दौरान सदर बशार की काबीना के वज़ीर-ए-दाख़िला(गुह मंत्री), दिफ़ा और डिप्टी आर्मी चीफ़ समेत कई अहम शख़्सियातों को हलाक करने का दावा किया है लेकिन‌ हुकूमत ने बाग़ीयों के इस दावे को रद कीया है।

बेरूत। शाम में बाग़ीयों ने एक हमले के दौरान सदर बशार की काबीना के वज़ीर-ए-दाख़िला(गुह मंत्री), दिफ़ा और डिप्टी आर्मी चीफ़ समेत कई अहम शख़्सियातों को हलाक करने का दावा किया है लेकिन‌ हुकूमत ने बाग़ीयों के इस दावे को रद कीया है।

हुकूमत के ख़िलाफ़ हथयार समेत कोशिशों में सरगर्म बाग़ी फ़ौज के अलसहाबा ब्रिगेड के तर्जुमान(अनुवाद‌क) अबू मआज़ ने उलार बया डाट नैट को टेलीफ़ोन पर बताया कि ब्रिगेड के जवानों ने सरकारी फ़ौज के कई आफ़िसरों को मौत के घाट उतार दिया है।

तर्जुमान ने कहा कि सरकारी फ़ौज का इन्टलीजन्स सिस्टम तबाह होगया है और बाग़ी फ़ौजी आसानी से अपने मकसदों तक पहुंच रहे हैं। उन्हों ने एक सभा को निशाना बनाया है जिस में वज़ीर-ए-दाख़िला और डिप्टी आर्मी चीफ़ समेत कई अहम शख़्सियात शरीक थीं।

अबू मआज़ का कहना था हमले के बाद बाग़ी फ़ौजी हिफ़ाज़त के साथ‌ फ़रार होने में कामयाब होगए और वो जल्द इस वाक़े की मज़ीद तफ़सीलात भी जारी करेंगे।

ज़राए के मुताबिक़ क़ातिलाना हमले में हलाक और ज़ख़मी होने वाली तमाम शख़्सियात को दमिशक़ के एक बड़े हस्पताल में भेज‌ दिया गया है। दूसरी तरफ‌ सरकारी मीडीया ने हुकूमत की तरफ‌ से जारी ब्यानात के हवाले से अपनी रिपोर्टस में बाग़ीयों के इस दावे की सख़्ती से तरदीद की है।

सरकारी टी वी पर वज़ीर-ए-दाख़िला मुहम्मद अलशार का एक ब्यान भी नशर किया गया है जिस में उन्हों ने अपनी और कई दूसरी अहम शख़्सियात की हलाकत की तरदीद की है और बाग़ीयों के इस दावे को झूट क़रार दिया गया है।

TOPPOPULARRECENT