दिग्गज हारे, फिर भी जदयू को 71 % सीटें

दिग्गज हारे, फिर भी जदयू को 71 % सीटें
Click for full image

 

पटना : बिहार एसेम्बली इंतिख़ाब में दिग्गजों की हार के बावजूद जदयू के 70 फीसद से उम्मीदवार इंतिख़ाब जीत गये। इस इंतिख़ाब में स्पीकर उदय नारायण चौधरी, बिहार सरकार के चार वज़ीर समेत कुल 11 एमएलए इंतिख़ाब हार गये हैं। इसके बावजूद जदयू ने 101 सीटों में से 71 सीटों पर जीत दर्ज की है। जदयू के कुल 30 उम्मीदवारों को हार का सामना करना पड़ा।

इंतिख़ाब हारने वाले 30 उम्मीदवारों में से 28 उम्मीदवार दूसरे मुकाम पर रहे। बिहार हुकूमत के वज़ीर रमई राम बोचहां से, वज़ीर मनोज कुमार सिंह कुढ़नी से, वज़ीर दुलालचंद गोस्वामी बलरामपुर और वज़ीर दामोदर राउत झाझा सीट से इंतिख़ाब हार गये हैं। वहीं, स्पीकर उदय नारायण चौधरी भी इमामगंज सीट से हार गये हैं। उन्हें साबिक़ वजीरे आला जीतन राम मांझी ने हराया है।

जदयू के कई सीटिंग एमएलए भी इंतिख़ाब नहीं जीत सके। बैकुंठपुर के एमएलए मंजीत कुमार सिंह,  कल्याणपुर से एमएलए रजिया खातून, मधुवन से एमएलए शिवजी राय, अमनौर से एमएलए कृष्ण कुमार, भभुआ से एमएलए  प्रमोद कुमार सिंह और एमएलए कौशल यादव हिसुआ सीट से इंतिख़ाब हार गये हैं।

जदयू के दो तर्जुमान दीघा से राजीव रंजन प्रसाद और मोकामा सीट से नीरज कुमार इंतिख़ाब लड़ रहे थे, लेकिन दोनों तर्जुमान जीत नहीं सके। पुलिस की नौकरी छोड़ राजगीर सीट से इंतिख़ाब लड़ने वाले रवि ज्योति ने भाजपा के दिग्गज सत्यदेव नारायण आर्य को हराया है। जदयू ने इस इंतिख़ाब में 101 में से 10 खातून उम्मीदवार को टिकट दिया था।  इसमें से एमएलए रजिया खातून को छोड़ कर बाकि खातून उम्मीदवारों ने जीत दर्ज की है।

2010 के एसेम्बली इंतिख़ाब में जदयू 141 सीटों पर लड़ी थी। इसमें उसे 115 पर जीत मिली थी।  2010 के चुनाव में जदयू ने 23 ख़वातीन को टिकट दिया था, जिसमें से 22 खातून एमएलए बनी थी।

 

Top Stories