Wednesday , December 13 2017

दिलसुखनगर धमाकों के ज़ख़मीयों का नामुकम्मल ईलाज

हैदराबाद 14 मार्च: दिलसुखनगर जुड़वां बम धमाकों में ज़ख़मी अफ़राद को अचानक कॉरपोरेट दवाख़ानों से मुकम्मल ईलाज के बगै़र डिस्चार्ज करने पर तेलुगू देशम के कारपूरीटरस ने आज असम्बली के क़रीब धरना मुनज़्ज़म किया जिस के बाद उन्हें पुलिस ने फ़

हैदराबाद 14 मार्च: दिलसुखनगर जुड़वां बम धमाकों में ज़ख़मी अफ़राद को अचानक कॉरपोरेट दवाख़ानों से मुकम्मल ईलाज के बगै़र डिस्चार्ज करने पर तेलुगू देशम के कारपूरीटरस ने आज असम्बली के क़रीब धरना मुनज़्ज़म किया जिस के बाद उन्हें पुलिस ने फ़ौरी गिरफ़्तार करलिया ।

तेलुगु देशम कारपूरीटरस जी एच एमसी फ़्लोर लीडर एस सिरिनवास रेड्डी की क़ियादत में फ़तेह मैदान पहले से असम्बली की सिम्त धरना मुनज़्ज़म करने के लिए आगे बढ़ रहे थे कि उन्हें चौकस पुलिस अमला ने रोक दिया और उन्हें हिरासत में ले लिया । लुगू देशम म कारपूरीटरस अपने हाथों में पले कार्ड्स थामे हुए थे जिस में हुकूमत से ये मुतालिबा किया गया कि बम धमाकों में ज़ख़मी हुए अफ़राद के बेहतर ईलाज की ज़िम्मेदारी हुकूमत की है और गर्वनमैंट मिशनरी ज़ख़मीयों को बेहतर ईलाज के लिए मुनासिब इक़दाम करें ना कि उन्हें ग़ैर मुकम्मल ईलाज के बाद डिस्चार्ज करें ।

आबडस पुलिस ने एहतेजाजी कारपूरीटरस और उन के हामीयों को आबडस पुलिस स्टेशन मुंतक़िल किया जहां पर उन्हें शख़्सी ज़मानतों पर रहा किया गया । 21 फ़रव‌री को पेश आए जुड़वां बम धमाकों में 105 अफ़राद ज़ख़मी होगए थे जिन्हें शहर के कॉरपोरेट दवाख़ानों में ईलाज के लिए हुकूमत ने शरीक किया था ।

लेकिन इन ज़ख़मीयों को मुकम्मल ईलाज के बगै़र अचानक डिस्चार्ज किए जाने पर उन के रिश्तेदारों में तशवीश पैदा होगई है । बाअज़ ज़ख़मीयों को जिन का ऑप्रेशन भी किया गया था पोस्ट आपरेटीव केर वार्ड में रखने के बजाये उन्हें घर रवाना किया जा रहा है। हुकूमत की इस लापरवाही से ज़ख़मीयों की जान को ख़तरा लाहक़ होसकता है ।

TOPPOPULARRECENT