Monday , December 11 2017

दिल्ली-एनसीआर में इस पॉल्यूशन से 30 हजार लोगों की जान का खतरा : AIIMS

नई दिल्ली : दिल्ली-एनसीआर में पॉल्यूशन गुरुवार को भी सीवियर कैटेगरी में है। फोर्टिस अस्पताल में 24 घंटे में सांस की बीमारियों से जुड़े मरीज 25% बढ़े हैं। एम्स के डायरेक्टर और जाने-माने पल्मोनोलोजिस्ट डॉ. रणदीप गुलेरिया के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर में इस पॉल्यूशन से करीब 30 हजार की जान जा सकती है। डॉक्टर्स के मुताबिक- 44 लाख बच्चे स्कूल जाते हैं, आधों को दिल की बीमारी का खतरा।

दिल्ली एम्स के डायरेक्टर रणदीप गुलेरिया ने राजधानी में छाई धुंध की तुलना 1952 की ‘ग्रेट स्मॉग ऑफ लंदन’ से की है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के हालात लंदन के स्मॉग की तरह साइलेंट किलर जैसे हैं।

उन्होंने कहा, ”ओपीडी में आ रहे मरीज सांस लेने में परेशानी, एलर्जी, खांसी और सीने में जलन की शिकायत कर रहे हैं। पॉल्यूशन का इतना खतरनाक लेवल सांस और दिल के मरीजों के लिए जानलेवा है। उनके लिए ये एक साइलेंट किलर की तरह है।”

”दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते पॉल्यूशन को देखते हुए 25 से 30 हजार मरीजों की जान जाने का खतरा पैदा हो गया है। हॉस्पिटल्स में सांस के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है।पिछले दिनों N95 मास्क और एयर प्यूरिफायर की बिक्री बढ़ी है, लेकिन यह फुल टाइम प्रोटेक्शन नहीं है।”

बता दें कि 5 दिसंबर, 1925 को लंदन के आसमान में 4 दिनों तक पीले रंग की धुंध छाई रही थी। ब्रिटिश अखबार द गार्डियन के मुताबिक, इसमें 4000 लोगों की मौत हुई थी।

बढ़ते पॉल्यूशन को देखते हुए शहर में डेवलपमेंट से जुड़े कंस्ट्रक्शन वर्क को छोड़कर सभी तरह के कंस्ट्रक्शन पर रोक लगा दी गई है। कलेक्टर ने मंगलवार को इस बारे में आदेश जारी कर दिया है। एक हफ्ते में पॉल्यूशन का लेवल दोगुना हो गया है। पीएम 2.5 का लेवल 1 नवंबर को 260 था, जो 7 नवंबर को 500 के करीब पहुंच गया।

स्मॉग से परेशान राजधानीवासी बुधवार सुबह से ही आंखों में जलन और सांसों की परेशानी से जूझते हुए दिखाई दिए। कई जगह जाम के हालात नजर आए तो ज्यादातर लोगों ने अपने वाहन के बजाए पब्लिक ट्रांसपोर्ट का उपयोग किया।

मेडिकल जर्नल लैंसेट के मुताबिक, भारत में हर साल 25 लाख लोगों की मौत पॉल्यूशन की वजह से होती है। दिल्ली में करीब 44 लाख बच्चे स्कूल जाते हैं। इनमें आधे बच्चों को दिल की बीमारी का खतरा है। डब्लयूएचओ के मुताबिक, भारत में पिछले 5 साल में बाहरी हवा 8 गुना खराब हुई है एशिया में ईरान के जबोल में पीएम-2.5 का एवरेज लेवल सबसे ज्यादा 217 है।

एयर क्लालिटी इंडेक्स की बात करें तो, सुबह पंजाबी बाग में एयर क्लालिटी इंडेक्स 799 रिकॉर्ड किया गया। लोधी रोड पर पीएम-10 और पीएम 2.5 दोनों ही 500 रिकॉर्ड किए गए। यह सीवियर कैटेगरी है। बुधवार को राजधानी में क्वालिटी इंडेक्स 478 पर पहुंच गया था। इसके बाद एलजी अनिल बैजल ने शाम को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ आपात बैठक की। इनके मुताबिक, दिल्ली में 12वीं तक के सभी स्कूल रविवार तक बंद रहेंगे। पार्किंग शुल्क 4 गुना कर दिया गया है। अगले आदेश तक दिल्ली में बाहरी ट्रकों की एंट्री और कंस्ट्रक्शन बैन कर दिया गया है। सीपीसीबी ने हरियाणा में सभी हॉट मिक्स प्लांट और स्टोन क्रेशर बंद करने के आदेश दिए। एम्स में सांस और हार्ट से जुड़े मरीज 20% तक बढ़ गए हैं।

TOPPOPULARRECENT