Monday , December 18 2017

दिल्ली का आज पुने और कोलकता का दक्कन से मुक़ाबला

इंडियन प्रीमीयर लीग के पांचवें एडीशन में कल दो मुक़ाबले खेले जाऐंगे, जैसा कि पुने में पुने वैरियर्स का मुक़ाबला दिल्ली डियर डेविल्स से होगा जबकि कोलकता के तारीख़ी मैदान ईडन गार्डन में गौतम गंभीर की टीम कोलकता नाईट रायडर्स टूर्नामे

इंडियन प्रीमीयर लीग के पांचवें एडीशन में कल दो मुक़ाबले खेले जाऐंगे, जैसा कि पुने में पुने वैरियर्स का मुक़ाबला दिल्ली डियर डेविल्स से होगा जबकि कोलकता के तारीख़ी मैदान ईडन गार्डन में गौतम गंभीर की टीम कोलकता नाईट रायडर्स टूर्नामेंट में मुसलसल पाँच नाकामियां बर्दाश्त करते हुए पहली कामयाबी का तआक़ुब कर रही दक्कनी टीम की मेज़बानी करेगी।

पुने में मुनाक़िद शुदणी मुक़ाबला में वीरेंद्र सहवाग की ज़ेर-ए-क़ियादत दिल्ली डियर डेविल्स टीम गंगोली की पुने वरियर्स के ख़िलाफ़ गुज़श्ता मुक़ाबले में हुई शिकस्त का हिसाब बराबर करने के ज़हन के साथ मैदान में उतरेगी। गुज़श्ता मुक़ाबले में पुने के ख़िलाफ़ हुई शिकस्त से क़बल तक डियर डेविल्स ने टूर्नामेंट पर हुक्मरानी की थी क्योंकि इस से क़ब्ल पाँच मुक़ाबलों में इस ने चार फ़ुतूहात हासिल की थीं।

दिल्ली जो कि टूर्नामेंट की शुरूआत से ही बेहतर मुज़ाहरा कर रही है तो दूसरी जानिब पौने ने बतदरीज अपने मुज़ाहिरों को बुलंद करते हुए फ़ुतूहात हासिल की हैं, जिस ने बतौर टीम एक इकाई बनने के लिए सख़्त मेहनत की है, और उसे सौरभ गंगोली जैसा कप्तान दस्तयाब है जो खिलाड़ियों में मौजूद सलाहीयतों को उभारने के लिए मशहूर है। गुज़श्ता मुक़ाबलों मैं ख़ुद कप्तान ने मिसाली मुज़ाहरा करते हुए ना सिर्फ 41 रन की इनिंग्स खेली और दो विकटों के हुसूल के साथ ऑल राउंड मुज़ाहरा किया और मैन आफ़ दी मैच ऐवार्ड भी हासिल किया।

दिल्ली टीम के अहम बैटस्मैन वीरेंद्र सहवाग, कियून पीटरसन , महेला जय वरधने और रास टेलर्स सभी बेहतरीन फ़ाम में है लेकिन इस का बौलिंग शोबा मंगल को खेले जाने वाले मुक़ाबले में कलीदी रोल अदा कर सकता है। दिल्ली टीम का बैटिंग शोबा टवन्टी 20 क्रिकेट की मुनासबत से एक बेहतरीन और ताक़तवर बैटिंग शोबा है जो कि सिर्फ तीन ओवर्स में मैच का नक़्शा पलट सकता है लिहाज़ा पुने के लिए ज़रूरी होगा कि वो स्कोर बोर्ड पर ज़्यादा से ज़्यादा रन दर्ज करें जैसा कि गुज़शता मुक़ाबले में उन्हों ने 192 रन स्कोर किए थे।

दरीं असना सुब्रता राय सहारा स्टेडीयम की विकेट बैटिंग के लिए साज़गार है जहां एक हमालयाई स्कोर की तवक़्क़ो की जा सकती है। दिल्ली के लिए जुनूबी अफ़्रीक़ी फ़ास्ट बोलर मिर्नी मर्कल और इर्फ़ान पठान कलीदी बौलर साबित हो सकते हैं जिनके ख़िलाफ़ गुज़शता मुक़ाबले में पुने वैरियर्स के खिलाड़ियों ने मंसूबा बंद तरीक़ा इख्तेयार किया था। दिल्ली के ख़िलाफ़ कामयाबी से पौने की टीम टूर्नामेंट की टीमों के जदूल में पहला मुक़ाम हासिल कर सकती है, लेकिन दिन के दूसरे मुक़ाबले में जब कोलकता और दक्कन एक दूसरे के मद्द-ए-मुक़ाबिल होंगे तो इस का नतीजा सर-ए-फ़हरिस्त टीम पर असर अंदाज़ हो सकता है।

पुने के लिए जे सी रायडर और रॉबिन उथप्पा की तेज़ रफ़्तार शुरूआत के इलावा मिडल आर्डर में गंगोली और स्टीवन स्मथ की मौजूदगी अहम होगी। दिन के दूसरे मुक़ाबले में कोलकता, दक्कन के ख़िलाफ़ अपनी फ़ुतूहात के सिलसिले में आगे बढ़ाने की ख़ाहां होगी जैसा कि तीन दिनों के दौरान मज़कूरा टीमों के दौरान ये दूसरा मुक़ाबला होगा।

काग़ज़ पुर के के आर पाँच मुक़ाबलों में चार फ़ुतूहात के बाद एक बेहतरीन टीम दिखाई दे रही है लेकिन दक्कन जिस ने गुज़श्ता माह ख़िताब हासिल किया, वो फ़िलहाल टूर्नामेंट में अपनी पहली कामयाबी की तलाश में मौजूद है। दक्कनी टीम में बासलाहीयत खिलाड़ी मौजूद हैं ताहम वो बहैसीयत टीम कामयाब नहीं हो पा रहे हैं।

गुज़श्ता मुक़ाबले में दक्कनी टीम ने 127 रन का दिफ़ा करने की कामयाब कोशिश की, जबकि दूसरी जानिब के के आर को पंजाब के ख़िलाफ़ 135 रन के तआक़ुब में शिकस्त हुई है। 2.1 मिलीयन डॉलर्स का लेबल अपने नाम रखने वाले यूसुफ़ पठान गुज़शता सात मुक़ाबलों में 5.80 की औसत से सिर्फ 29 रन स्कोर किए हैं जो टीम के लिए तशवीश का बाइस है।

गुज़श्ता पाँच मुक़ाबलों में कोलकता नाईट रायडर्स ने जो मैन आफ़ दी मैच एवार्ड्स हासिल किए हैं, इस में लक्ष्मी पति बालाजी , शकीब उल-हसन , सुनील नारायण और ब्रीट ली ने चार ख़ताबात हासिल किए हैं, इस तरह कोलकता की फ़ुतूहात में बौलरों का किरदार ही अहम रहा है।

TOPPOPULARRECENT