Sunday , January 21 2018

दिल्ली के वज़ीर पर ख्वातीन के साथ बदसुलूकी का इल्ज़ाम

दिल्ली के वज़ीर ए कानून सोमनाथ भारती की ओर से खिडकी एक्सटेंशन में की गई छापेमारी की कार्रवाई में अब एक नया मोड आ गया है। युगांडा की चार ख्वातीन ने शिकायत की है कि वज़ीर अपने हामियों और मुकामी लोगों के साथ मिलकर उन्हें जबरन सरकारी अस्

दिल्ली के वज़ीर ए कानून सोमनाथ भारती की ओर से खिडकी एक्सटेंशन में की गई छापेमारी की कार्रवाई में अब एक नया मोड आ गया है। युगांडा की चार ख्वातीन ने शिकायत की है कि वज़ीर अपने हामियों और मुकामी लोगों के साथ मिलकर उन्हें जबरन सरकारी अस्पताल में ले गए और वहां उनका मेडिकल टेस्ट कराया। ख्वातीन की ओर से पैरवी करने वाले जाने माने वकील हरीश साल्वे ने इल्ज़ाम लगाया कि दिल्ली के वज़ीर ए कानून सोमनाथ भारती आधी रात को रेड के वक्त अपने हामियों के साथ युुगांडा की चार ख्वातीन को जबरन यरगमाल (बंधक) बनाकर उन्हें धमकी दी और इनमें से एक खातून को टायलेट तक नहीं जाने दिया और मजबूरन उसे लोगों के सामने ही पेशाब करना पडा।

बता दें कि इन ख्वातीन पर किए गए जांच में ड्रग्स की मिक्दार नहीं मिली थी। ख्वातीन ने इल्ज़ाम लगाया है कि वज़ीर और उनके साथ मौजूद लोगों ने न सिर्फ उनके साथियों के साथ मारपीट की बल्कि उन्हें जबरदस्ती गाडी में घुमाते रहे। सोमनाथ भारती अपने कुछ हामियों के साथ 15 जनवरी की आधी रात खिडकी गांव गए थे, जहां एक घर पर छापा मारने से इनकार करने के बाद पुलिस के एसीपी रैंक के आफीसर से उनकी बहस हो गई थी।

भारती ने इल्ज़ाम लगाया था कि उस इमारत से जिस्म फरोशी और नशे के माद्दा की तस्करी का रैकेट चलता है। इसके बाद भारती अपने साथियों के साथ उस खातून के घर में जबरन गए और इस दौरान यह वाकिया हुआ। पुलिस के छापा मारने से इनकार करने के बाद भारती की एसीपी रैंक के एक आफीसर से बहस हो गई। इन ख्वातीन के हामी बने पूर्व सॉलिसिटर जनरल हरीश साल्वे ने दिल्ली पुलिस में इस ताल्लुक में नामालूम लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

साल्वे ने कहा कि हैरत अंगेज़ वाली बात यह है कि पुलिस वज़ीर और उनके साथ मौजूद भीड को गिरफ्तार करके उनसे कडाई से क्यों नहीं निपटी। आम आदमी पार्टी के लीडर मनीष सिसोदिया ने इस इल्ज़ाम को खारिज किया कि ख्वातीन को परेशान किया गया।

TOPPOPULARRECENT