Sunday , September 23 2018

दिल्ली के सभी गांवों में ग्राम विकास समिति का गठन होगा: गोपाल राय

नई दिल्ली: ग्राम विकास बोर्ड, दिल्ली सरकार द्वारा मावलंकर हाल (कास्टि्टयूशन क्लब आफ इंडिया), नई दिल्ली में स्मार्ट गांव सम्मेलन को आज आयोजित किया गया। इस सम्मेलन में दिल्ली के विकास मंत्री श्री गोपाल राय ने कहा कि स्मार्ट गाँव से ही स्मार्ट सिटी का निर्माण होगा। स्मार्ट गांव सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य ग्राम विकास समिति के सदस्यों को ट्रेनिंग देना और उनकी राय लेना था। ताकि गांव का विकास सही रूप से हो सके।

इस अवसर पर विकास मंत्री ने बताया कि दिल्ली के सभी 365 गांवों में विकास के लिए ग्राम विकास समिति का गठन किया जा रहा है। इस ग्राम विकास समिति में सभी वर्गों, महिलाओं और नौजवानों का प्रतिनिधित्व होगा ताकि गांव का विकास परम्परा और आधुनिकता के साथ हो सके।  गाँव के विकास कार्य को लेकर ग्राम विकास समिति पंचायत करेगी। इस कदम से दिल्ली के गांव के लोगों की  विकास में सीधी सहभागिता होगी और इस सहभागिता से विकास कार्यों में भ्रष्टाचार को मिटाने में मदद मिलेगी।

विकास मंत्री श्री गोपाल राय ने बताया कि ग्राम विकास बोर्ड के गठन के बाद अभी तक दो बैठक हुई है। इसमें 452 योजनओं का अनुमोदन किया गया है जिसमें लगभग 558 करोड़ रूपए की लागत आएगी।

दिल्ली के विकास मंत्री ने बताया कि दिल्ली सरकार ने दिल्ली ग्राम विकास बोर्ड का गठन किया गया है जिसके द्वारा ग्रामीण और शहरीकृत  गांव दोनों में  विकास कार्य किया जाएगा। इससे पहले ग्रामीण विकास बोर्ड द्वारा सिर्फ ग्रामीण गांवों का विकास कार्य किया जाता था। दिल्ली ग्राम विकास बोर्ड का मुख्य कार्य ग्रामीण एवं शहरीकृत गाँवों के लालडोरा क्षेत्र, सिजरा सड़कों तथा सरकारी भूमि पर सार्वजनिक सुविधाओं वाले क्षेत्रों पर निम्नलिखित विकास कार्यों की संस्तुति करना है:-

1. गाँवों की सड़कों का निर्माण एवं पुर्ननिर्माण।

2. गाँवों के तालाबों का विकास कार्य।

3. गाँवों के पार्क, खेल के मैदान, व्यायामशाला, पुस्तकालय तथा शमशान घाटों का निर्माण कार्य।

4. गाँवों में पानी की निकासी का निर्माण कार्य।

5. गाँवों की चौपाल, बारातघर तथा सामुदायिक केंद्रों का निर्माण कार्य/मरम्मत का कार्य।

6. गाँवों के दूसरे अन्य कार्य जैसे कि पीने के पानी की सुविधा तथा सड़़कों की बिजली का कार्य इत्यादि।

दिल्ली के विकास मंत्री ने बताया कि जिस गांव में चौपाल या बारात घर नहीं है उस गांव में चौपाल या बारात घर का निर्माण ग्राम विकास बार्ड द्वारा किया जाएगा। इसके साथ-साथ चौपालों एवं बारातघरों की मरम्मत भी ग्राम विकास बोर्ड द्वारा की जाएगी।

TOPPOPULARRECENT