Wednesday , September 19 2018

दिल्ली गैंगरेप के मुल्ज़िमों का बयान, बस में थे ही नहीं हम

नई दिल्ली, 12 अप्रैल: दिल्ली गैंगरेप मामले के मुल्ज़िम विनय शर्मा और पवन गुप्ता ने खुद को बेगुनाह बताया है। इनका दावा है कि वे वाकिया के वक्त बस में मौजूद नहीं थे।

नई दिल्ली, 12 अप्रैल: दिल्ली गैंगरेप मामले के मुल्ज़िम विनय शर्मा और पवन गुप्ता ने खुद को बेगुनाह बताया है। इनका दावा है कि वे वाकिया के वक्त बस में मौजूद नहीं थे।

दोनों ने दरखास्त दाखिल कर तर्क रखा कि वाकिया के वक्त एक मूसिक़ी तकरीब में थे और उनके मोबाइल से इस सच्चाई की तसदीक होती है।

हालांकि अदालत ने उनके इसे दलील को रद्द कर दिया। साकेत वाकेय् फास्ट ट्रैक कोर्ट के जज योगेश खन्ना के रू ब रू पेश विनय के वकील ए.पी. सिंह ने दर्खासत दाखिल कर दावा किया कि 16 दिसंबर 2012 की रात वे उस बस में नहीं थे जिसमें लड़की के साथ इस्मतरेज़ि का इल्ज़ाम लगाया गया है।

उन्होंने कहा कि विनय अपने दोस्त पवन के साथ उस वक्त एक मूसिक़ी तकरीब में था। उन्होंने कहा कि विनय के मोबाइल फोन से इस हकीकत की तसदीक होती है।

उन्होंने कहा कि मोबाइल फोन से छेड़छाड़ का इल्ज़ाम भी नहीं लगाया जा सकता क्योंकि उनके मुवक्किल की गिरफ्तारी के वक्त से ही मोबाइल पुलिस के कब्जे में है।

मज़कूरा विडियो क्लिप को देखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि पुलिस ने उनके मुवक्किल को फर्जी मामले में फंसाया है।

उन्होंने अदालत से मज़कूरा विडियो से सीडी बनाने की इजाजत देने की अपील की।

TOPPOPULARRECENT