Wednesday , December 13 2017

दिल्ली गैंगरेप: पीर को अदालत में पेश होंगे रेपिस्ट और कातिल

नई दिल्ली, 05 जनवरी: दिल्ली गैंगरेप मामले में दायर चार्जशीट पर अदालत में समआत हफ्ते को शुरू हो गई। मजिस्ट्रेट ने सभी मुल्ज़िमीनो को अपने सामने पेश होने के लिए समन जारी किया।

नई दिल्ली, 05 जनवरी: दिल्ली गैंगरेप मामले में दायर चार्जशीट पर अदालत में समआत हफ्ते को शुरू हो गई। मजिस्ट्रेट ने सभी मुल्ज़िमीनो को अपने सामने पेश होने के लिए समन जारी किया।

पीर के दिन सभी मुल्ज़िमीन मजिस्ट्रेट के रूबरू पेश किए जाएंगे। तभी इन मुल्ज़िमीनो को चार्जशीट की एक−एक कॉपी दी जाएगी। इसके बाद सभी मुल्ज़िमीनो को अपना केस लड़ने के लिए वकील करने का वक्त दिया जाएगा। अगर वे वकील का इंतेजाम नहीं कर पाए तो अदालत उनको वकील देगी।

इसके बाद मजिस्ट्रेट इस केस को सेशन्स कोर्ट को सौंप देंगे। इसके बाद सेशन्स कोर्ट इस केस को फास्ट ट्रैक कोर्ट में भेजेगा। यहां केस का जिम्मा स्पेशल पब्लिक प्रोसिक्यूटर को दे दिया जाएगा।

तालिबा से हुए गैंगरेप के मामले में दिल्ली पुलिस ने जुमा को पांच मुल्ज़िमीनो के खिलाफ अदालत में चार्जशीट दाखिल की थी। मालूम हो कि 16 दिसंबर को चलती बस में युवती के साथ गैंगरेप किया गया था और तालिबा की 29 दिसंबर को सिंगापुर के एक अस्पताल में मौत हो गई थी।

चार्ज शीट में इस मामले के मुल्ज़िम राम सिंह, उसके भाई मुकेश और साथी पवन गुप्ता, विनय शर्मा और अक्षय ठाकुर के खिलाफ ताजीराते हिंद के तहत कत्ल, इस्मतरेज़ि, कत्ल करने की कोशिश, अगवा, डकैती, लूट के लिए मारपीट, सुबूत खत्म ट करने, मुजरिमाना साजिश रचने जैसे इल्ज़ाम आइद किए गए हैं।

इस केस में छठावां मुल्ज़िम नाबालिग है। उसके खिलाफ किशोर न्याय बोर्ड में मुकदमा चलेगा। दिल्ली पुलिस ने 33 सफो वाली इस चार्जशीट में नाबालिग मुल्ज़िम के किरदार का भी जिक्र किया है।

TOPPOPULARRECENT