दिल्ली: पार्किंग को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प के बाद तनाव, पुलिस बल तैनात !

दिल्ली: पार्किंग को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प के बाद तनाव, पुलिस बल तैनात !
दिल्ली के हौज काजी क्षेत्र में स्कूटी पार्किंग को लेकर हुए विवाद के बाद सोशल मीडिया पर फैली अफवाह से रविवार रात दो समुदायों के बीच जमकर बवाल हुआ। सैकड़ों लोगों की भीड़ ने हौजकाजी थाने का घेराव कर लिया।

इस दौरान भीड़ में शामिल कुछ शरारती तत्वों ने पास ही स्थित एक धार्मिक स्थल पर पथराव कर दिया। इसके बाद दोनों समुदायों के लोग आमने-सामने आ गए। कुछ लोगों ने आधा दर्जन वाहनों में तोड़फोड़ कर दी।

सोमवार को भी दोनों और नारेबाजी होती रही। भीड़ ने कवरेज करने गए कुछ मीडियाकर्मियों के साथ मारपीट कर उनके कैमरे तोड़ डाले। एहतियात के तौर पर पूरे इलाके में स्थानीय पुलिस के अलावा अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किया गया है।

पुलिस के मुताबिक वारदात पुरानी दिल्ली के लालकुंआ स्थित हमदर्द दवाखाने के पास गली चाबुक वाली में हुई। कारोबारी युवक आस मोहम्मद रात करीब 10 बजे अपनी स्कूटी संजीव गुप्ता की दुकान के सामने पार्क करने लगा।

इसका विरोध करने पर दोनों के बीच कहासुनी हो गई और फिर दोनों ओर से तीन-चार युवक वहां पहुंच गए और उनमें मारपीट भी हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस संजीव व आस मोहम्मद को मेडिकल कराने के लिए थाने ले आई।

अमर उजाला की रिपोर्ट के मुताबिक किसी ने व्हाट्सएप व फेसबुक पर अफवाह फैला दी कि एक समुदाय के युवक को भीड़ ने पीटा है। इसके बाद उस समुदाय के लोगों की भारी भीड़ थाने पहुंच गई और नारेबाजी करने लगी।  रात करीब 11 बजे वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और भीड़ को समझाने का प्रयास किया।

करीब 12.30 बजे कुछ शरारती तत्वों ने पास ही स्थित धार्मिक स्थल पर पथराव कर दिया और तोड़फोड़ भी की। इसकी सूचना मिलते ही दोनों समुदाय के लोग आमने-सामने आ गए उनमें पथराव होता रहा।

तड़के तीन बजे पुलिस ने सभी लोगों को समझा बुझाकर घर भेज दिया, लेकिन सोमवार सुबह कुछ लोगों ने एक अन्य धार्मिक स्थल के बाहर नारेबाजी शुरू कर दी। इसके बाद फिर से इलाके में तनाव के हालात बन गए।

पुलिस ने एहतियात के तौर पर दोनों समुदायों के मोहल्ले में बेरीकेडिंग कर दी। बावजूद इसके बवाल की कवरेज करने पहुंचे दो समाचार पत्रों के फोटोग्राफर के साथ मारपीट की गई। एक फोटोग्राफर का सिर फट गया और उसका कैमरा तोड़ दिया।

Top Stories