Thursday , December 14 2017

“भारतीय लोकतंत्र के सामने खतरे और उनका समाधान”

हाल के दिनों में जिस तरह देश की विविधता भरी संस्कृति पर हमले हुए हैं और जिस तरह ख़ास तरह के दक्षिणपंथी संगठन हमलावर तरीके से सामने आए हैं, वैसे में ये बहुत ज़रूरी हो चला है कि हम इस देश में लोकतांत्रिक माहौल को बचाने के लिए एकजुट हों। देश के संविधान में जिन मूल्यों की बात की गई है, उन्हें बचाना ही देश में लोकतंत्र को बचाना है। ‘आइडिया ऑफ़ इंडिया’ की ये मज़बूती है कि तमाम हमलों के बावजूद ये मुल्क अभी चरमराया नहीं है, लेकिन ये निश्चिंत रहने का भी दौर नहीं है। ये वो दौर है जब लोकतांत्रिक संस्थाओं को ख़ास रंग में रंगने की कवायद की जा रही है। ऐसे में लोकतंत्र के सामने जो चुनौतियां खड़ी हुई हैं, उन पर बात करना ज़रूरी हो चला है। लेकिन इन चुनौतियों से निपटने के रास्ते भी जनवादी लोगों को ही ढूंढना पड़ेगा। इन्हीं बातों के मद्देनज़र “नेशनल सेक्युलर एसोसिएशन” इस कार्यक्रम का आयोजन कर रहे हैं।जैसा कि कार्यक्रम के नाम से ही ज़ाहिर है, हम देश के सामने मौजूद चुनौतियों के साथ-साथ उससे पार पाने के रास्तों पर भी बात करेंगे।
IMG-20160818-WA0017
इस कार्यक्रम में शामिल होने वालों मेहमानों के लिस्ट में जो नाम है वो सभी समाज की समस्याओं को लेकर किसी ना किसी स्टेज के माध्यम से आवाज उठाते रहे हैं। इस वक्त के युवा पीढ़ी के सबसे चहेते कांग्रेस के सीनियर नेता शहजाद पुनावाला प्रोग्राम में चीफ गेस्ट है। शहजाद पुनावाला ने हाल ही में दिल्ली में हुए एक सेमिनार के माध्यम से ‘आरएसएस’ के झूठे देशभक्ति को उजागर किया था। इस प्रोग्राम में शामिल होने वाले अन्य वक्ताओं में आचार्य प्रमोद कृष्ण, एमपी रह चुके जे. पी अग्रवाल, एमपी रह चुके सुबोधकांत सहाय और एमएलए रह चुके चौधरी मतिन अहमद हैं।

कार्यक्रम: “भारतीय लोकतंत्र के सामने ख़तरे और उनका समाधान”
जगह: सीलमपुर फ्रूट मार्किट, दिल्ली
तारीख: 20th अगस्त 2016
वक़्त: शाम 7.30 बजे।

TOPPOPULARRECENT