Tuesday , July 17 2018

दिल्ली में मुख्य सचिव से बदसलूकी पर सचिवालय में अफसरों का हंगामा

सरकार के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से हाथापाई की है। ये भी आरोप लगाया गया है कि ये सब सीएम आवास पर उनकी मौजूदगी में हुआ। इस घटना के बाद से  दिल्ली के आईएएस अधिकारी सरकार से नाराज हैं। इसी के चलते दिल्ली सरकार के अधिकारियों ने हड़ताल पर जाने का एलान कर दिया है। साथ ही दिल्ली सचिवालय भवन के अंदर और बाहर अधिकारियों का हंगामा जारी है।

‘आप’ के विधायकों पर आरोप लगाते हुए DASS के अध्यक्ष डीएन सिंह ने कहा, ‘जब तक आरोपियों को गिरफ्तान नहीं किया जाता तब तक अधिकारी काम पर नहीं जाएंगे।’ इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर चीफ सेक्रेटरी पर ऐसे हमला होगा तो बाकी लोगों का क्या होगा। इससे पहले अधिकारियों ने इस मामले को लेकर एक आपात बैठक बुलाई। बैठक के बाद अधिकारियों ने इस बात का फैसला किया कि इसकी शिकायत उपराज्यपाल की।

उधर दिल्ली की सहायक सचिव मनीषा सक्सेना ने बताया, ‘मुख्य सचिव अंशु प्रकाश को देर रात में सीएम, डेप्यूटी सीएम और विधायकों के साथ मीटिंग के लिए बुलाया गया। जब वो पहुंचे तो उनके साथ बदसलूकी हुई। ऐसा बहुत दिनों से हो रहा कि अफसरों से बुरा बर्ताव किया जाता है और बदतमीजी से बात की जाती है।

डीएन सिंह ने कहा कि हमने उप राज्यपाल अनिल बैजल से मिलकर आप के विधायकों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की अपील की है। ये  संविधान पर हमला है, हमने कभी इस तरह की घटना आज से पहले नहीं देखी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आप के विधायकों को बर्खास्त किया जाना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि जल्द ही आईएएस अधिकारी राष्ट्रपति से मुलाकात करेंगे।

दरअसल बीती मुख्यमंत्री आवास पर बैठक बुलाई गई थी। जहां आम के विधायक भी पहुंचे थे। वहीं पर आप को दो विधायकों पर मुख्य सचिव अंशु प्रकाश से हाथापाई का आरोप लगा।

क्या था मामला
बता जा रहा है कि एक मीटिंग के दौरान अमानतुल्लाह ने शिकायत की कि राशन की दुकानों पर मशीन लगने के चलते ढाई लाख परिवारों को पिछले महीने से राशन नहीं मिला है। इस पर चीफ सेक्रेट्री ने कहा दिया कि वो इन सभी सवालों का जवाब एलजी को देंगे। इसके बाद तीन साल केजरीवाल वाले विज्ञापन का मामला उठा और बहस शुरू हो गई। मामला बढ़ गया और आप के दो विधायकों ने बदतमीजी की और हाथापाई पर उतर आए।

आम आदमी पार्टी की सफाई
पूरे मामले को लेकर आईएएस असोसिएशन नाराज़ है और दोनों विधायकों के खिलाफ एफआईआर भी कराई जा सकती है. हालांकि अमानतुल्लाह ने सफाई देते हुए कहा है कि हाथापाई चीफ सेक्रेट्री की तरफ से शुरू हुई थी।  आम आदमी पार्टी ने अपना जवाब एक लेटर के जरिए ट्वीट किया। पार्टी ने इस पत्र में लिखा है कि हमने मुख्य सचिव से आधार कार्ड को लेकर हो रहीं अनियमितताओं को लेकर जवाब मांगा, लेकिन उन्होंने कहा कि वो सिर्फ LG से बात करेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि अंशु प्रकाश ने विधायकों से अपशब्द भी कहे।

आप ने कहा, ‘मुख्य सचिव गलत आरोप लगा रहे हैं। ये साफ है कि वो बीजेपी के इशारे पर काम कर रहे हैं। बीजेपी सरकारी अफसरों और एलजी के साथ मिलकर सरकार के काम में दखल देने के लिए ये सब कर रही है।’

TOPPOPULARRECENT