Monday , December 11 2017

दिल्ली में सदर राज , मर्कज़ी काबीना की मंज़ूरी

मर्कज़ी काबीना ने दिल्ली में सदर राज के नफ़ाज़ और असेंबली को ग़ैर मुअय्यना मुद्दत के लिए मुल्तवी करने लेफ़्टिंंट गवर्नर नजीब जंग की सिफ़ारिश मंज़ूर करली।

मर्कज़ी काबीना ने दिल्ली में सदर राज के नफ़ाज़ और असेंबली को ग़ैर मुअय्यना मुद्दत के लिए मुल्तवी करने लेफ़्टिंंट गवर्नर नजीब जंग की सिफ़ारिश मंज़ूर करली।

वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह की ज़ेरे क़ियादत काबीना ने ये फ़ैसला किया जिस पर सदर जमहूरीया परनब मुख‌र्जी की तरफ से आलामीया जारी करते ही अमल दर आमद होगा।

दस्तूर की दफ़ा 356 के तहत क़रारदाद के ज़रीये पार्लियामेंट में उस की तौसीक़ भी ज़रूरी है। गवर्नर ने असेंबली को तहलील करते हुए ताज़ा चुनाव कराने आम आदमी पार्टी के मुतालिबा को मुस्तर्द कर दिया।

उन के इस इक़दाम से किसी भी सयासी जमात या इत्तिहाद के लिए मुस्तक़बिल में तशकील हुकूमत की गुंजाइश रहेगी। केजरीवाल ने गवर्नर के इस इक़दाम के बारे में इस्तिफ़सार किया कि उन्होंने काबीना के फ़ैसले के मुताबिक़ असेंबली तहलील करने की सिफ़ारिश क्यों नहीं की हालाँकि दस्तूरी तौर पर वो एसा करने के पाबंद हैं।

मर्कज़ को पेश करदा अपनी रिपोर्ट में नजीब जंग ने असेंबली की तहलील के लिए अरविंद केजरीवाल की क़ियादत में कल रात सबकदोश शूदा मजलिस वुज़रा की सिफ़ारिश की हिमायत नहीं की।

TOPPOPULARRECENT