Tuesday , December 12 2017

दिल्ली में हुकूमत बनाने की हलचल के बीच आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

दिल्ली में हुकूमत बनाने को लेकर हलचल तेज है और इसी बीच ज़राये के मुताबिक मरकज़ी हुकूमत सुप्रीम कोर्ट में यह कह सकती है कि दिल्ली के नायब गवर्नर नजीब जंग हुकूमत बनाने के इम्कान तलाश सकते हैं| आईन के तहत मिले इख्तेयारात के तहत एलजी सबस

दिल्ली में हुकूमत बनाने को लेकर हलचल तेज है और इसी बीच ज़राये के मुताबिक मरकज़ी हुकूमत सुप्रीम कोर्ट में यह कह सकती है कि दिल्ली के नायब गवर्नर नजीब जंग हुकूमत बनाने के इम्कान तलाश सकते हैं| आईन के तहत मिले इख्तेयारात के तहत एलजी सबसे बडी पार्टी को हुकूमत बनाने के लिए बुला सकते हैं. ज़राये के मुताबिक मरकज़ी हुकूमत ने एलजी को भी यह बात बता दी है|

सुप्रीम कोर्ट की आईनी बेंच (constitution Bench) दिल्ली में विधानसभा इंतेखाबात कराने की मांग करने वाली आम आदमी पार्टी की दरखास्त पर भी आज सुनवाई करेगी| सुप्रीम कोर्ट ने पिछले महीने हुई सुनवाई के दौरान मरकज़ी हुकूमत से कहा था कि वो दिल्ली में हुकूमत की तश्कील या विधानसभा तहलीलकरने पर जल्द फैसला ले|

आईनी बेंच इस मसले पर नायब गवर्नर की ताकत , मरकज़ के किरदार जैसे तमाम आईनी सवालों पर भी गौर कर रही है|दिल्ली बीजेपी की इंतेखाबी कमेटी और पार्लीमानी बोर्ड की भी आज बैठक है| दिल्ली में हुकूमत बनाने पर पार्टी फैसला कर सकती है|

दिल्ली बीजेपी इंतेखाबी कमेटी की बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी भी शामिल होंगे|वज़ीर ए आला के ओहदे के नाम पर भी फैसला हो सकता है|

दिल्ली में हुकूमत बनाने के लिए 36 MLAs की अक्सरियत होनी चाहिए. हालांकि विधानसभा की मौजूदा ताकत के मुताबिक अक्सरियत के लिए 34 MLAs की जरूरत है| दिल्ली में बीजेपी के पास अकाली दल के MLAs को मिलाकर 29 MLAs हैं और वह सबसे बड़ी पार्टी है|

दिल्ली में केजरीवाल के इस्तीफा देने के बाद सदर राज लगा हुआ है| आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस के साथ मिलकर हुकूमत बनाई थी लेकिन सिर्फ 49 दिनों बाद केजरीवाल ने दिल्ली के सीएम के ओहदा से इस्तीफा दे दिया था|

TOPPOPULARRECENT