Sunday , December 17 2017

दिल्ली रेप: लोग कह रहे थे दरिंदा है, मारो..मार डालो..

मुजफ्फरपुर, 21 अप्रैल: मौसम ठंडा था, लेकिन शहर का माहौल गरम। बाजार में जगह-जगह मासूम बच्ची की इज़्ज़त लूटने वाले दरिंन्दे की करजा ब्लाक के चिकनौटा गांव से गिरफ्तारी व कोर्ट में पेश किए जाने का ज़िक्र। धीरे-धीरे लोगों के पांव खुद ब खुद क

मुजफ्फरपुर, 21 अप्रैल: मौसम ठंडा था, लेकिन शहर का माहौल गरम। बाजार में जगह-जगह मासूम बच्ची की इज़्ज़त लूटने वाले दरिंन्दे की करजा ब्लाक के चिकनौटा गांव से गिरफ्तारी व कोर्ट में पेश किए जाने का ज़िक्र। धीरे-धीरे लोगों के पांव खुद ब खुद कोर्ट की ओर बढ़ चले। पेशी से पहले ही वहां काफी तादाद में लोगों की भीड़ जमा हो गई। पुलिस ओहदेदारो व जवानों से पूरा अहाता भर गया था।

लोगो को उस शख्स को देखने की खाहिश थी, जिसने बिहार की शकाफती दारूल हुकुमत कहे जाने वाले इस जिले को शर्मिंदा/शर्मसार कर दिया था। यह बात जेहन में आते ही लोगों में गुस्सा भड़क उठता। वे उस हैवान को खुद सजा देने को तैयार थे।

इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता था कि जैसे ही कोर्ट में पेशी के बाद पुलिस उसे बाहर लेकर निकली दर्जनों लोग उसे मारने दौड़ पड़े। दिल्ली व मुकामी पुलिस भी उसे खींचते हुए वैन की ओर भागी। वहां भी अफरा-तफरी का माहौल पैदा हुआ। पुलिस इस दरिंदे की सेक्युरीटी को ध्यान में रखते हुए तेज रफ्तार से गाड़ी को लेकर थाने की ओर कूच कर गई। लोग भी पीछे-पीछे…… वे कह रहे थे कैसा बेशर्म है। इतनी गिरी हुई हरकत करने के बाद भी उसकी आंखों में कोई पछतावा नहीं है। ऐसे हैवान को यहीं सरेआम सजा सबके सामने दे देनी चाहिए ।

खैर….चंद मिनटों के बाद जैसे ही पुलिस थाने पर उसे लेकर पहुंची, वैसे ही वहां भी लोग गोलबंद होने शुरू हो गए थे। देखते ही देखते थाने से सामने और मोतीझील ओवर ब्रिज पर दर्जनों लोग जमा हो गए थे।

गुस्से को देखते हुए वहां आधा दर्जन से ज़्यादा पुलिस मोबाइल जीप को तैनात कर दिया गया था। जदीद हथियारों से लैस व लाठी पार्टी वाले जवान इधर-उधर मुश्तैदी से गश्त लगा रहे थे। थाने के अंदर का माहौल भी गरम था। टाउन डीएसपी और डीएसपी पश्चिमी, नगर थाना इंचार्ज समेत दूसरे ओहदेदार कागजी कार्रवाई कर उसे भेजने की तैयारी में मशरूफ थे।

कोई दौड़कर इधर जा रहा था तो कोई उधर। सुबह के करीब पौने दस बजे जैसे ही कार्रवाई पूरी हुई पुलिस उसे पटना ले जाने के लिए अहाते में लाई, वैसे ही करीब डेढ़ घंटे से वहां खड़े लोगों का सब्र टूट पड़ा और वे चिल्ला उठे मारो-मारो। इस दरिंदे को सजा दो। मार डालो। पब्लिक के गुस्से को देख पुलिस ओहदेदार उसे फिर यहां भी खींचते हुए खुशुशी वैन में धकेल कर अंदर बैठा दिया। फिर डीएसपी टाउन व मगरिबी के कियादत में छह गाड़ियों से स्कॉर्ट करते उसे पटना लेकर रवाना हो गए |

TOPPOPULARRECENT