दिल्ली से अमेरिका जा रहे कानपुर के इंजीनियर की फ्लाइट में मौत, जापान में फंसा शव

दिल्ली से अमेरिका जा रहे कानपुर के इंजीनियर की फ्लाइट में मौत, जापान में फंसा शव
Click for full image

दिल्ली से अमेरिका जा रहे कानपुर निवासी इंजीनियर की दिल का दौरा पड़ने से बीच रास्ते में मौत हो गई। आनन-फानन में फ्लाइट की इमरजेंसी लैंडिंग करके जापान के एक हॉस्पिटल में ले जाया गया पर डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। पांच दिन हो गए और शव जापान में ही फंसा हुआ है। परिजनों ने भारतीय दूतावास में संपर्क करने के साथ विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भी ट्वीट किया पर किसी भी तरह का उचित जवाब नहीं मिल पाया।

पनकी के स्वराज नगर निवासी विजय कुमार पाल (38) गुड़गांव की ऑयल एंड गैस कंपनी में कार्यरत थे। 13 अक्तूबर की दोपहर वह दिल्ली से अमेरिका जाने के लिए फ्लाइट से निकले थे। पत्नी गिरिजा ने बताया कि 14 अक्तूबर को जापान से फोन आया कि विजय की मौत हो चुकी है। फोन पर पोस्टमार्टम कराने की अनुमति मांगी गई। इसके बाद परिजनों में कोहराम मच गया। गिरिजा ने पति की कंपनी के अफसरों को जानकारी दी। विजय के पिता सुखलाल पाल और भाई अजय, अमित के साथ दोनों बहनें दिल्ली के लिए रवाना हो गईं।

बहन गीता ने बताया कि कंपनी के पदाधिकारी शव भारत मंगाने के लिए जापान के संपर्क में हैं। कागजी औपचारिकता पूरी होने के बाद एक हफ्ते में शव कानपुर पहुंचाने की बात कही जा रही है। परिजनों को कुछ समझ में नहीं आ रहा कि कहां जाएं और किससे मदद मांगें। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को ट्वीट किया है लेकिन वहां से भी कोई जवाब नहीं मिला।

Top Stories