Sunday , January 21 2018

दिल्‍ली में मेजर जनरल के लगाई फांसी

नई दिल्ली, 20 जुलाई: दिल्ली के जुनूबी मशरिकी जिले के द्वारका इलाके में नेशनल केडिट कोर (एनसीसी) के एडिशनल डीजी ने जुमे की शाम को अपने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट मिला है।

नई दिल्ली, 20 जुलाई: दिल्ली के जुनूबी मशरिकी जिले के द्वारका इलाके में नेशनल केडिट कोर (एनसीसी) के एडिशनल डीजी ने जुमे की शाम को अपने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस को मौके से एक सुसाइड नोट मिला है।

बताया जा रहा है कि उन्होंने सुसाइड नोट में पोस्टिंग सही जगह न होने व पोस्टिंग के सबब परेशान होने की बात लिखी है। पोस्टिंग सही मुकाम पर न होने की वजह से डिप्रेशन के शिकार हो गए थे।

जुनूबी मशरिकी जिले के इजाफी पुलिस कमिश्नर एके ओझा ने बताया कि वह डिप्रेशन से मुतास्सिर थे। हालांकि उन्होंने पोस्टिंग को लेकर डिप्रेशन का शिकार होने की बारे में इजाफी पुलिस कमिश्नर ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया।

जुनूबी मशरिकी जिला पुलिस आफीसरो के मुताबिक राजपाल सिंह (55) बीवी के साथ द्वारका के सेक्टर-दो में वाकेए जय अपार्टमेंट में रहते थे। वह बिहार और झारखंड के मेजर जनरल थे और इन दिनों उनके पास एनसीसी के एडिशनल डीजी का जिम्मा था। उनकी पोस्टिंग पटना में थी।

पुलिस आफीसरों के मुताबिक डीजी ने जुमे की शाम करीब छह बजे अपने कमरे में पंखे से फांसी लगा ली। फांसी रस्सी के जरिए लगाई थी। इस वाकिया के वक्त उनकी बीवी घर से बाहर गई हुई थी।

पुलिस आफीसरों ने बताया कि बीवी जब घर लौटी तो राजपाल पंखे से लटके हुए थे। कमरे का दरवाजा तोड़कर उन्हें नजदीकी अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मुर्दा ऐला कर दिया। पुलिस ने लाश को पोस्टमार्टम के लिए डीडीयू अस्पताल में रखवा दिया था।

बताया जा रहा है कि साल सितंबर, 2011 में तबादला दिल्ली से पटना हुआ था। वह इस तैनाती से खुश नहीं थे। कुछ महीने बाद उनका रिटायरमेंट था। ऐसे में वह दिल्ली में ही पोस्टिंग चहाते थे।

पुलिस महकमा परेशानियों को लेकर भी जांच कर रही है। जिले के सीनीयर पुलिस आफीसर देर रात तक मौके पर थे और डीजी की तरफ से खुदकुशी करने के जुहात की जांच में लगे हुए थे।

TOPPOPULARRECENT