फंदे पर लटका हुआ था पिता विक्षिप्त बेटा नोच नोच कर खा रहा था शव

फंदे पर लटका हुआ था पिता विक्षिप्त बेटा नोच नोच कर खा रहा था शव

झारखंड के पलामू जिले में एक दिल को झकझोरने वाली घटना सामने आई है। बताया जा रहा है कि पांकी थाना के डंदर गांव में पिछले तीन दिनों से एक व्यक्ति फांसी के फंदे पर लटका हुआ था। उसका मानसिक रूप से विक्षिप्त पुत्र शव को नोच-नोच कर खा रहा था। बताया जा रहा है कि शव से दुर्गंध उठने के बाद मामले की जानकारी आसपास के लोगों को हुई। घटना की सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने शव को फंदे से उतार कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

परिवार कलह की वजह से फांसी लगा ली: बताया जा रहा है कि थाना प्रभारी ने विक्षिप की बच्ची को नौलाकर, नए कपड़े पहनेकर अस्पताल में भर्ती कराया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक डंदर के 55 वर्षीय सुरेश मोची अपने 12 वर्षीय मानसिक रूप से विक्षिप्त बेटे के साथ रहता था। सुरेश परिवार कलह से जूझ रहा था। पुलिस के अनुसार दिसंबर 2018 को सुरेश की पत्नी अपने देवर छत्ती मोची की हत्या कर फरार हो गई थी। सुरेश के दो बेटे और दो बेटे हैं। एक बेटी की शादी हो गई है, जबकि एक बेटा बाहर रहकर मजदूरी करता है। वहीं एक बेटी अपनी मां के साथ ही फरार हो गई थी।

घर में खाने के लिए कुछ नहीं था: पुलिस के अनुसार सुरेश ने तीन दिन पहले ही अपने घर में फांसी लगाई थी। तीन दिन बीत जाने के बाद जब शव से दुर्गन्ध आने लगी, तब पड़ोसियों ने इसकी सूचना थाने को दी। सूचना मिलते ही पांकी पुलिस इंस्पेक्टर प्रमोद रंजन और थाना प्रभारी प्रकाश यादव के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। थाना प्रभारी के पहुंचने के बाद घर का दरवाजा तोड़ा गया। घर के अंदर जब पुलिस घुसी तो घर के अंदर का जो मंजर था, वह दिल दहलाने वाला था। बताया जा रहा है कि शव के बगल में मृतक का एक विक्षिप्त पुत्र भी साथ में था। वह पिता की लाश को नोच नोच कर खा रहा था। यह आशंका जताई जा रही है कि मानसिक संतुलन ठीक नहीं हो रहा है और कम लगने के कारण वह पिता के डिजाइनरों के साथ ही ऐसा काम कर रही थी। बताया जा रहा है मृतक के घर मे अनाज का एक भी दाना भी नहीं था।

घर में खाने के लिए कुछ नहीं था: पुलिस के अनुसार सुरेश ने तीन दिन पहले ही अपने घर में फांसी लगाई थी। तीन दिन बीत जाने के बाद जब शव से दुर्गन्ध आने लगी, तब पड़ोसियों ने इसकी सूचना थाने को दी। सूचना मिलते ही पांकी पुलिस इंस्पेक्टर प्रमोद रंजन और थाना प्रभारी प्रकाश यादव के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। थाना प्रभारी के पहुंचने के बाद घर का दरवाजा तोड़ा गया। घर के अंदर जब पुलिस घुसी तो घर के अंदर का जो मंजर था, वह दिल दहलाने वाला था। बताया जा रहा है कि शव के बगल में मृतक का एक विक्षिप्त पुत्र भी साथ में था। वह पिता की लाश को नोच नोच कर खा रहा था। यह आशंका जताई जा रही है कि मानसिक संतुलन ठीक नहीं हो रहा है और कम लगने के कारण वह पिता के डिजाइनरों के साथ ही ऐसा काम कर रही थी। बताया जा रहा है मृतक के घर मे अनाज का एक भी दाना भी नहीं था।

साभार : जनसत्ता

Top Stories