Thursday , May 24 2018

दिवाली के मौके पर पटाखे बेचने पर लगी रोक के बाद विक्रेता पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली : दिल्ली-एनसीआर में दिवाली के मौके पर पटाखे बेचने पर लगी रोक के बाद पटाखा विक्रेता आज सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं। विक्रेताओं ने सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई है कि उनके पटाखों के स्टॉक को बेचने की इजाजत दें।

उनका कहना है कि जब पटाखे पर रोक लगानी ही थी तो पहले व्यापारियों के लाइसेंस का नवीनीकरण ही क्यों किया? पटाखा दुकानें बंद होने के कारण मंगलवार को दिन भर सदर बाजार स्थित पटाखा मार्केट सुनसान पड़ा रहा। दुकानें बंद थीं और उन पर सरकार के खिलाफ जगह-जगह नारे लिखे पर्चे चस्पा थे। वहीं दुकानदारों ने सदर बाजार में पटाखे जला कर विरोध जताया।

दिल्ली-एनसीआर में पटाखों पर प्रतिबंध लगने की वजह से व्यापारियों ने बुधवार से भूख हड़ताल पर बैठने की घोषणा की है। सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद व्यापारियों ने सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन भी शुरू कर दिया है।

पटाखा दुकानदार हरजीत छाबड़ा ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने 4 अक्तूबर को 24 पटाखा व्यापारियों के लाइसेंस रिन्यु किए थे, जिसके बाद इन व्यापारियों ने 10 से 20 लाख रुपये तक का सामान दुकानों में एकत्रित कर लिया।

चूंकि दिवाली भी नजदीक है, इसलिए व्यापारियों की लगभग सभी तैयारियां पूरी हो चुकी थीं। ऐसे में अचानक से पटाखे पर रोक लगने की वजह से इनका लाखों का नुकसान हुआ है। छाबड़ा ने कहा कि अगर सरकार ने उनकी मांगों पर अमल नहीं किया तो सभी पटाखा व्यापारी मिलकर सदर बाजार में ही पूरे सामान को आग के हवाले कर देंगे।

TOPPOPULARRECENT