Wednesday , December 13 2017

दीनी मदारिस को फ़राख़दिलाना इमदाद की अपील

हैदराबाद 2‍६जुलाई । (रास्त ) मौलाना शाह जमाल अलरहमन मिफताही सदर दीनीमदारिस बोर्ड आंधरा प्रदेश , मौलाना अहमद मुही उद्दीन निज़ामी , मौलाना मीर क़ुतुब उद्दीन अली चिशती , मौलाना सफ़ी अहमद मदनी नायबीन सदर , मौलाना ख़ालिद सैफ-अल्लाहरहमा

हैदराबाद 2‍६जुलाई । (रास्त ) मौलाना शाह जमाल अलरहमन मिफताही सदर दीनीमदारिस बोर्ड आंधरा प्रदेश , मौलाना अहमद मुही उद्दीन निज़ामी , मौलाना मीर क़ुतुब उद्दीन अली चिशती , मौलाना सफ़ी अहमद मदनी नायबीन सदर , मौलाना ख़ालिद सैफ-अल्लाहरहमानी जनरल सैक्रेटरी , मुहम्मद रहीम उद्दीन अंसारी अस्सिटैंट जनरल सैक्रेटरी , मौलानाहाफ़िज़ ख़्वाजा नज़ीर उद्दीन सबीली , मौलाना अब्दुह लकवे , मौलाना ग़ियास उद्दीन रहमानी सैक्रेटरीज़ , मीर मक़बूल अली हाश्मी ख़ाज़िन , मौलाना मक़सूद यमानी आर्गेनाईज़र दीनीमदारिस बोर्ड आंधरा प्रदेश ने अपने मुशतर्का सहाफ़ती ब्यान में कहा कि दीनी मदारिस उस वक़्त सिर्फ़ तालीमी इदारे नहीं हैं बल्कि मुस्लमानों के ईमान , उन के तमद्दुन और उन के दीन की हिफ़ाज़त गाहैं हैं।

इस वक़्त सलीबी , सहयोनी , फ़िकऱ्ापरस्त ताक़तें और हुकूमतें चाहतीं हैं कि इन मदारिस का यातो वजूद ही ख़तन होजाए या उन को महिदूद सेमहिदूद कर दिया जाय ।

ख़ुद हिंदूस्तान में भी मुनज़्ज़म तौर पर इस तरह का ज़हन बनाने की मज़मूम कोशिशें हो रही हैं , अफ़सोस कि बाअज़ मुस्लमान हज़रात भी नासमझी में ऐसी कोशिशों में मुआविन बन जाते हैं। इन हालात में मुस्लमान अहल स्रोत और अस्हाब ख़ैर की ज़िम्मेदारी है कि वो ज़कात-ओ-सदक़ात और अतयात के ज़रीया मुस्तहिक़ दीनी मदारिसका फ़राख़ दिलाना तआवुन करें

TOPPOPULARRECENT