Wednesday , January 17 2018

दीन-ए- मोबिन को मिटाने के लिए दुश्मने इस्लाम कोशां

कुरनूल ०९ दिसम्बर (फैक्स ) ज़माना-ए-क़दीम से दुश्मनाँ इस्लाम का ये वतीरा रहा है कि देन हनीफ़ को मिटाने के लिए इन ज़राए को मशकूक किया जाये । जिन से दीन , मिल्लत-ए-इस्लामीया तक पहूँचता है ।

कुरनूल ०९ दिसम्बर (फैक्स ) ज़माना-ए-क़दीम से दुश्मनाँ इस्लाम का ये वतीरा रहा है कि देन हनीफ़ को मिटाने के लिए इन ज़राए को मशकूक किया जाये । जिन से दीन , मिल्लत-ए-इस्लामीया तक पहूँचता है ।

इसलिये उन्होंने मदारिस इस्लामीया और उल्मा – ए- किराम को तन्क़ीद का हदफ़ बनाया । मदारिस को दहश्तगर्दी के अड्डे क़रार दिया ।

इन नाज़ुक तरीन हालात में रियास्ती जमईता उल्मा ए हिंद की जानिब से यक्म जनवरी 2012 को निज़ाम कालेज ग्राउंड् हैदराबाद में मुनाक़िद होने वाला इजलास ना सिर्फ अवाम और उल्मा के दरमियान् राबिता को तक़वियत पहुँचायेगा बल्कि मुल्क् के हुकमरानों को मुस्लमानों से किए गए आईनी वादों की अमल आवरी पर मजबूर करेगा ।

इन ख़्यालात का इज़हार मौलाना हाफ़िज़ क़ाज़ी अब्दुल् मजिद् निज़ामी सदर जमईता अलालमा-ए-ज़िला करनूल ने यूनिक इंग्लिश हाई स्कूल , अब्बास नगर , करनूल में मुनाक़िदा मजलिस-ए-आमला के इजलास में किया ।

शरकाए इजलास मुफ़्ती सलीम अल्लाह क़ासिमी , मौलाना हारून रशीद सबीली , मुफ़्ती शाह वली अल्लाह हसामी , मौलाना इबराहीम ख़लील-उल-ल्लाह ,मौलाना हाफ़िज़ अबदुल्लाह क़ासिमी , मौलाना अबदुलसत्तार के इलावा अल्हाज सादिक़ जनाब मुस्तफ़ा और जनाब अबदुलग़फ़ूर ने माहाना जलसा हाय इस्लाह मुआशरा के ज़िमन में और मौलाना हाफ़िज़ पैर शब्बीर अहमद ऐम अलसी के ज़ेर-ए-सदारत मुनाक़िद होने वाले सुबाई इजलास में ज़िला कुरनूल के तमाम मंडलों ख़ुसूसन यमगनोर , नंदी कटकोर , कोडमोड , गोडोर , बलगल , ननदयाल से अराकीन जमईता-ओ-अवामुन्नास की शिरकत को यक़ीनी बनाने केलिए मुफ़ीद तजावीज़ पेश कीं । सवारीयों-ओ-दीगर इंतिज़ामात की क़तईयत केलिए 22 दिसम्बर जुमेरात बाद नमाज़ अस्र यूनिक हाई स्कूल में इजलास आमिला मुनाक़िद होगा

TOPPOPULARRECENT