Friday , December 15 2017

दीपिका पादुकोण और भंसाली को मौत की धमकी अस्वीकार्य: नाना पाटेकर

पिछले ज़माने के अभिनेता नाना पाटेकर ने फिल्म पद्मावती के निर्माता संजय लीला भंसाली और अभिनेत्री दीपिका पादुकोण को कुछ लोगों द्वारा जारी हिंसक खतरों की निंदा करते हुए कहा कि ऐसी धमकियों की भयावहता “अस्वीकार्य” है।

नाना पाटेकर ने कहा, “लोगों को फिल्म देखने के बिना निर्णय करने के लिए समयपूर्व है, हालांकि मैं समझ नहीं पा रहा हूं कि उनके भंसाली की फिल्मों के रिलीज़ होने से पहले इतने तीव्र विवाद क्यों होता है? मैं व्यक्तिगत रूप से महसूस करता हूं कि यह एक छोटा सा मुद्दा है और मैं भी इसमें शामिल नहीं होना चाहता। लेकिन जब मैं नहीं जानता कि पात्रों को कैसे चित्रित किया जाता है और मैं फिल्म देखने के बाद संजय (भंसाली) को बता सकता हूं, मैं दीपिका पादुकोण और उनके खिलाफ हिंसा की धमकी की निंदा करता हूँ।”

पाटेकर ने मुंबई में होक्ररों के मुद्दे पर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के अध्यक्ष राज ठाकरे को एक सूक्ष्म ठहराव भी जारी किया।

अभिनेता ने कहा, “उन्होंने हमारी मौखिक थप्पड़ पर किसी भी ‘निजी नुकसान’ का सामना नहीं किया है…उन्हें कहने का अधिकार है कि वह क्या चाहते है और मैं भी करता हूं … लेकिन राज निश्चित रूप से इस मुद्दे पर एक वोट [मतलब पाटेकर के द्वारा गरीब बन गया है।”

इस महीने की शुरुआत में, श्री पाटेकर ने मुंबई में इंजीनियरिंग संस्थान के एक समारोह में एमएएस के हिंसक तरीके से फड़फड़ाते हुए हॉकर्स के जबरन विस्थापन के लिए दबाव डाला था, और टिप्पणी करते हुए कहा था कि किसी को उनकी रोजमर्रा की रोटी से इनकार करने का अधिकार नहीं है।

अपने ट्रेडमार्क दिवालिएपन के साथ मिलकर एक बेरहम रिपोस्टे में, मनसे प्रमुख ने अभिनेता को जवाब देते हुए कहा, उन मामलों में हस्तक्षेप करने के लिए उकसाया जिसमें उन्हें चिंता नहीं थी।

उन्होंने कहा, “वह [नाना पाटेकर] एक शानदार अभिनेता हैं और अभिनय के लिए बने रहना चाहिए…उन्हें उन विषयों पर अपना मुंह नहीं खोलना चाहिए, जिन्हें वे नहीं जानते। वह सड़कों पर वास्तविकता नहीं जानते। ”

ठाकरे ने मराठी फिल्मों की मदद करने में नाकाम रहने के लिए नाना पाटेकर को ताने मार दिया, जब उद्योग अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रहा था।

TOPPOPULARRECENT