दुकानदारों ने की उधारी शुरू, देशभर के लगभग हर शहर में एक जैसा माहौल

दुकानदारों ने की उधारी शुरू, देशभर के लगभग हर शहर में एक जैसा माहौल

दिल्ली/रांची : देशभर के लगभग हर शहर में एक जैसा माहौल देखने को मिल रहा है। सुबह जब लोग ब्रेड, दूध जैसी चीजें लेने दुकानों पर पहुंचे तो दुकानदारों ने उधारी रजिस्टर ग्राहकों के आगे कर दिए। कहने की जरूरत नहीं कि खरीदने वालों की कोशिश यह रही कि जल्द से जल्द अपनी जेब के बड़े नोटों को रवाना कर दिया जाए और बेचने वाले इससे बचते दिखे। दोनों को बीच का रास्ता दिखा ‘उधारी ‍‍रजिस्टर’ में। इससे न बेचने वालों को दिक्कत हो रही है ना खरीदने वालों को।

वैसे कई छोटे दुकानदार अभी भी बड़े नोट लेने में नहीं हिचक रहे हैं। उनका तर्क है कि बैंकों में यह आसानी से जमा हो जाएंगे तो अभी से धंधा क्यों खराब करना। लमिलाकार नोट बंद करने के फैसले के अलग-अलग रंग सुबह-सुबह ही देश में दिखने लगे हैं। अच्छा यह है कि इससे लोगों के तालमेल को तो खूब बढ़ावा मिल रहा है। ‘उधार प्रेेम की कैंची है’ इस वाक्य को बड़े-बड़े अक्षरों में दुकानों पर टांगने वाले दुकानदारों ने बुधवार सुबह दुकान खोलतेे ही सबसे पहला काम इस बोर्ड को हटाने का किया। फिर उधारी के रजिस्टर से धूल झाड़ने के बाद ही पूजा-पाठ और सफाई की। यह असर है मंगलवार रात हुई सरकार की बड़ी घोषणा का, जिसमें यह कहा गया है कि 500 और 1000 के नोट बंद किए जा रहे हैं।

Top Stories