दुकानों से टीबी मरीजों को मिलेगी फ्री में दवा

दुकानों से टीबी मरीजों को मिलेगी फ्री में दवा
शहरी टीबी प्रोजेक्ट के तहत पटना जिला से मई में पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया जायेगा, जिसमें ऐसे मरीजों को फायदा पहुंचाया जायेगा, जो प्राइवेट अदारों में अपना इलाज करा रहे हैं।

शहरी टीबी प्रोजेक्ट के तहत पटना जिला से मई में पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया जायेगा, जिसमें ऐसे मरीजों को फायदा पहुंचाया जायेगा, जो प्राइवेट अदारों में अपना इलाज करा रहे हैं।

मंसूबा के तहत ऐसे तमाम मरीजों के लिए दुकान का सेलेक्शन किया जायेगा, जहां से प्राइवेट मरीज भी फ्री में दवा ले सकेंगे। इसके लिए मरीजों को महज एक आईडी प्रूफ दिखाना होगा। पटना के बाद पायलट प्रोजेक्ट को पूरे बिहार में लागू किया जायेगा। वहीं, इसी प्रोजेक्ट के तहत स्लम में रहने वाले लोगों के बलगम की भी जांच होगी।

बिहार में टीबी मरीजों की तादाद

बिहार में 736 सेहत अदारों पर ऐसे लोग जांच करा रहे हैं जिन्हें टीबी की बीमारी का शक है। 2005-13 तक 26 लाख 39 हजार 314 मरीजों की जांच हुई, जिसमें तीन लाख 3 हजार 365 मूतअदी मरीज़ खोजे गये, लेकिन 2005-13 तक 5 लाख 87 हजार 487 टीबी मरीजों का इलाज शुरू हुआ। इसमें से तकरीबन 87 फीसद रोगी के ठीक होने की तसदीक़ हो चुकी है।

Top Stories