Tuesday , December 12 2017

दुनिया की शीशे से बनी हुई पार्लीमैंट

बैरूनी अफ़राद को मुम्किन है कि ये फ़न तामीर का एक और अजूबा महसूस होता हो लेकिन ये शीशों की इमारत जॉर्जिया की जदीद तरीन पार्लीमैंट की इमारत है ।

बैरूनी अफ़राद को मुम्किन है कि ये फ़न तामीर का एक और अजूबा महसूस होता हो लेकिन ये शीशों की इमारत जॉर्जिया की जदीद तरीन पार्लीमैंट की इमारत है ।

ये इमारत एक गनबद की साख़त की है । ऐसा महसूस होता है कि ये इमारत किसी साईंसी नावल के सफ़हात से बाहर निकल कर वजूद में आई है ।

ये एक 40 मीटर बुलंद गनबद नुमा आँख है जिस पर ज़बरदस्त सख़्त कंक्रीट की बनी हुई पलकें हैं । ये इस यूरेशियाई मलिक के एक पुरजोश सदर मीख़ाईल सीकाश विले का मर्ग़ूब तरीन प्रोजेक्ट‌ है जो हर एक की तवज्जु का मर्कज़ बन जाती है ।

ये इमारत जॉर्जिया के दार-उल-हकूमत तबलीसी से तक़रीबन 100 किलो मीटर के फ़ासिला पर वाक़्य है । अक्टूबर में जॉर्जिया के पारलीमानी इंतेख़ाबात मक़ररर हैं जिन के बाद मुंख़बा अरकान-ए-पार्लीमैंट ऐवान पार्लीमैंट के क़रीब तामीर शूदा क़ियाम गाहों में मुंतक़िल होजाएंगे

TOPPOPULARRECENT