Friday , December 15 2017

दुनिया भर में गाएं दूध देती हैं, लेकिन भारत की गाएं मतदान करती हैं: इमरान प्रतापगढ़ी

दिल्ली के जंतर मंतर पर ‘रक्तदान’ कार्यक्रम के आयोजन के बाद ‘नेशनल दस्तक’ को संबोधित करते हुए कवि इमरान प्रतापगढ़ी ने कहा है कि अब तक 50 से ज्यादा मोब-लिन्चिंग के मामलों की सूचना मिली है।

उन्होंने दु:ख व्यक्त किया कि निर्दोष लोगों को पीटा जा रहा है और वह घटनाओं में मारे गए। मोब लिन्चिंग की घटनाओं का विरोध करते हुए, प्रतापगढ़ी ने गांधीवादी बनकर रक्त दान कार्यक्रम का आयोजन किया। रक्तदान कार्यक्रम ‘लहू बोल रहा है’ को 6 अगस्त को इस साल नई दिल्ली में जंतर मंतर पर उर्दू कवि इमरान प्रतापगारी ने शुरू किया था।

उन्होंने कहा, दुनिया भर में गाएं दूध देती हैं जबकि भारत की गाएं वोट देती हैं। यह मोब लिन्चिंग की घटना नहीं है, बल्कि वास्तव में संग्घदित लिन्चिंग है। इसके पीछे एक एजेंडा है अपने अभियान के बारे में बताते हुए कवी ने कहा, यह लोकतंत्र को बचाने की लड़ाई है क्योंकि लोकतंत्र मर रहा है।

रक्तदान कार्यक्रम आयोजित करके उन्होंने तथाकथित गौ रक्षकों को संदेश दिया ‘सड़क पर हमारा रक्त न फैलाना; हम आप को दान करेंगे। उन्होंने उन कट्टरपंथियों से भी अपील कि की हमारे खून को सड़कों पर बर्बाद न करें, हम इसे दान करेंगे, ताकि देश की सीमाओं पर घायल सैनिकों को यह खून दिया जा सके व अन्य सभी जरूरतमंद हिंदू , मुस्लिम, सिख, ईसाई और अन्य भाइयों की मदद की जा सके।

 

TOPPOPULARRECENT