Wednesday , December 13 2017

दॆहरादून ऐक्सप्रैस में आतिशज़दगी, 7 हलाक

कोलकता २३ नवंबर (पी टी आई) होड़ा। दुहरा दोन ऐक्सप्रैस के दो ए सी कोचस में आज आतिशज़दगी के बाइस 7 मुसाफ़िर ज़िंदा जल कर हलाक हो गए जिन में एक ऑस्ट्रेलियाई ख़ातून भी शामिल है।

कोलकता २३ नवंबर (पी टी आई) होड़ा। दुहरा दोन ऐक्सप्रैस के दो ए सी कोचस में आज आतिशज़दगी के बाइस 7 मुसाफ़िर ज़िंदा जल कर हलाक हो गए जिन में एक ऑस्ट्रेलियाई ख़ातून भी शामिल है।

वज़ीर रेलवे ने कहा कि आतिशज़दगी वाक़िया में शरपसंदों की कार्रवाई के इमकान को मुस्तर्द नहीं किया जा सकता। ट्रेन में सफ़र करनेवाली एक और ऑस्ट्रेलियाई ख़ातून भी झुलस कर ज़ख़मी हुई है जिसे रेलवे डीवीजनल हॉस्पिटल में शरीक किया गया है।

दुहरादून ऐक्सप्रॆस के ए सी कोचस B1 में सुबह 3 बजे आग भड़क उठी और ए सी कोच B2 तक फैल गई। ये आग गोमो और नेवी घाट रेलवे स्टेशनों के दरमयान लगी। रेलवे प्रोटेक्शन फ़ोर्स के डीवीजनल कमांडैंट शशी कुमार ने कहा कि आतिशज़दगी के बाइस 7 अफ़राद हलाक हुई।

डीवीजनल रेलवे मैनेजर धनबाद डीवीजन सुधीर कुमार ने फ़ोन पर बताया कि एक ऑस्ट्रेलियाई ख़ातून भी महलोकीन में शामिल हैं।

आस्ट्रेलिया की 4 ख़वातीन ट्रेन में सफ़र कररही थी जो होड़ा से बोध गया जा रही थी। ये चार ख़वातीन रिसर्च स्कालरस बताई गई हैं। दीगर महलोकीन की 4 साला एरिचता ठाकुर , 8 साला तोबी अली अख़तर और 25 साला डाक्टर अनोमीता सिंह और ओशानगर शामिल हैं।

वज़ीर रेलवे त्रिवेदी ने कहा कि आग लगने के वाक़िया में शरपसंदों के मुलव्वस होने के इमकान को मुस्तर्द नहीं किया जा सकता। तहक़ीक़ात की रिपोर्ट का इंतिज़ार किया जा रहा है। उन्हों ने कहा कि उन्हें अभी तक कोई इत्तिला नहीं मिली है। आग लगने के बाइस ट्रेन के दोनों ए सी कोच्स तबाह हो गई।

ये ट्रेन कल रात हावड़ा स्टेशन से निकली थी जबकि इस में से एक हिस्सा गोमो की सिम्त जा रहा था और दूसरा हिस्सा प्रशांत जा रहा था। वज़ीर रेलवे ने महलोकीन के अरकान ख़ानदान से इज़हार ताज़ियत किया। होड़ा, बर्धवान और बुन्देल स्टेशनों पर एमरजैंसी सेल क़ायम किए गए हैं।

रेलवे के वज़ीर दिनेश त्रिवेदी ने आज हावड़ा दॆहरादून् ऐक्सप्रैस में आतिशज़दगी के वाक़े में जानी नुक़्सान पर इज़हार-ए-अफ़सोस करते हुए हलाक शुदगान केलिए फ़ी ख़ानदान पाँच लाख रुपय देने का ऐलान किया। उन्होंने बतायाकि इस रेलगाड़ी के बी। और बी। ए सी डिब्बे के तमाम मुसाफ़िरों को फ़ौरी तौर पर 25000 रुपय की माली इमदाद मिलेगी जो उन्हें इन दोनों डिब्बों में आग लग जाने से होने वाली परेशानी के लिए दी जाएगी।

वाज़िह रहे कि इन दोनों डिब्बों में कल 128 मुसाफ़िर सवार थी। इन में से 7 जल कर हलाक होगई। रेलगाड़ी में पिछले पहर तक़रीबन ढाई बजे आग लगी थी।धनबाद के डी आर ऐम और रेलवे की मैडीकल टीम ने जाय वाक़िया पर पहुंच कर वहां फंसे मुसाफ़िरों के लिए राहत-ओ-बचाओ के काम की निगरानी की।रेलवे के वज़ीर दिनेश त्रिवेदी ने आज लोक सभा में एक ब्यान में कहाकि झारखंड हुकूमत के आफ़िसरान के तआवुन से हादिसे के वजूह की मुख़्तलिफ़ सतहों पर जांच की जा रही है।

उन्हों ने ग़मज़दा ख़ानदानों सयाज़हार हमदर्दी करते हुए कहाकि ऐसे हादिसात को रोकने के लिए मुताल्लिक़ा ज़िम्मेदारों को संजीदा कोशिश से काम लेना चाहीए ।

TOPPOPULARRECENT