Tuesday , January 16 2018

देवबंद में महमूद-उल-हसन की याद में बनेगा उर्दू दरवाज़ा

लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी एवं शिक्षाविद हजरत शेख-उल-हिन्द मुफ्ती महमूद-उल-हसन की स्मृति में देवबन्द, सहारनपुर में प्रस्तावित ‘उर्दू दरवाजा’ का शिलान्यास किया। इसको लेकर आयोजित समारोह में उन्होंने कहा कि उप्र उर्दू अकादमी की ओर से बनवाया जा रहा लाल पत्थर का यह दरवाजा 30 से 45 फुट ऊँचा होगा।
उन्होंने कहा कि यह दरवाजा ऐसे व्यक्ति के नाम पर बनाया जा रहा है, जो एक बड़े विद्वान होने के साथ देश की आजादी के लिए संघर्ष करने वाले महान शख्सियत थे। दरवाजा मोहब्बत और भाईचारे का पैगाम देगा। उन्होंने कहा कि ऐसे और दरवाजे बनाये जाने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश की भाषाओं, साहित्य, संगीत , ललित कलाओं को बढ़ावा देने पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार की कोशिश है कि प्रदेश के हर वर्ग, धर्म, भाषा और व्यक्ति की उन्नति हो और वह आगे बढ़े। हिन्दी, उर्दू अकादमी की पूरी सहायता की गई। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए नगर विकास मंत्री मोहम्मद आज़म खां ने कहा कि प्रदेश में नेताजी मुलायम सिंह यादव के दौर से उर्दू की जो खिदमत शुरू हुई थी, समाजवादी सरकार ने उसे आगे बढ़ाया है। उप्र उर्दू अकादमी के चेयरमैन डॉ नवाज़ देवबन्दी ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने उर्दू अकादमी का बजट दो गुना कर दिया है। कार्यक्रम में राजनैतिक पेंशन मंत्री राजेन्द्र चौधरी, परिवहन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) यासर शाह, जन्तु उद्यान राज्य मंत्री एसपी यादव, मुख्य सचिव दीपक सिंघल आदि मौजूद थे।

यूपी से मलिक असग़र हाशमी

TOPPOPULARRECENT