Thursday , November 23 2017
Home / India / देशभर में अंधेरा, मगर जनता सबसे बड़ी मास्टर है : शरद यादव

देशभर में अंधेरा, मगर जनता सबसे बड़ी मास्टर है : शरद यादव

नई दिल्ली: बीजेपी-जेडीयू गठबंधन बनने से नाराज शरद यादव ने कोई भी नई पार्टी बनाने से इनकार किया है. अपने एक करीबी नेता के बयान को उन्होंने भावना में बहकर दिया बयान करार दिया.शरद यादव ने कहा कि देशभर में अंधेरा है. जनता सबसे बड़ी मास्टर है. उनसे संवाद करने बिहार जा रहा हूं. 10 अगस्त से 12 अगस्त के बीच बिहार के 7 जिलों में आम लोगों से जनसंवाद करूंगा. 17 अगस्त को दिल्ली में सम्मेलन बुलाया है जिसका थीम है, ‘साझा विरासत बचाओ सम्मेलन’.

इससे पहले आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने कहा था कि शरद यादव 8 अगस्त को पटना आ रहे हैं. लालू ने यह भी कहा था कि वह और शरद यादव 2019 का चुनाव मिलकर लड़ेंगे. लालू के इस बयान से ये अटकलें लगाई जा रही हैं कि शरद यादव अगर-अलग पार्टी न भी बनाएं तो लालू के साथ जा सकते हैं.

बता दें कि नीतीश कुमार के महागठबंधन छोड़कर बीजेपी के साथ बिहार में सरकार बनाने के बाद से शरद यादव लगातार नाराज चल रहे हैं. उनके करीबी लोगों ने स्पष्ट कहा कि वह पार्टी के इस फैसले से खुश नहीं है. उधर, यह भी गौर करने की बात है कि शरद यादव ने अभी तक नीतीश कुमार पर कोई सीधा हमला नहीं किया है लेकिन वह लगातार केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला करते आ रहे हैं. वह कई मंचों से कई बार बीजेपी को सांप्रदायिक पार्टी करार दे चुके हैं.

TOPPOPULARRECENT