देश की इंटरनेशनल कराटे चैंपियन चाय बेचने पर मजबूर।

देश की इंटरनेशनल कराटे चैंपियन चाय बेचने पर मजबूर।

भोपाल: देश में विकास को लेकर बड़े बड़े वादे करती सरकारों के वादे और नियतें दोनों ही खोटी नज़र आ रही हैं। ऐसा हम इस लिए कह रहे हैं क्यूंकि देश के हालात यही बयान कर रहे हैं। और शायद इस खबर को पढ़ कर आप भी यही कहेंगे। मामला है भोपाल कि रहने वाली अंतर्राष्ट्रीय कराटे चैंपियन वंदना सूर्यवंशी का, जिसने कराटे की नेशनल चैंपियनशिप जीत कर मध्य प्रदेश का और इंटरनेशनल चैंपियनशिप जीत कर देश का नाम 2014 में रोशन किया था। आज जहाँ वंदना बच्चों को कराटे सीखने के लिए क्लास देती है वहीँ अपना पेट पालने के लिए चाय बेचने पर मजबूर है और खुद को देशसेवक, धर्मसेवक कहने वाले नेताओं को इस बात का कोई ध्यान ही नहीं है।

वंदना से संपर्क करने वाले मीडिया चैनल के जरिये वंदना ने सरकार से अपील की है की वह देश के खिलाड़ियों की माली हालत और रोज़गार की तरफ ध्यान दे ताकि लोग और खिलाडी खेलों से जुड़ कर देश का नाम पूरी दुनिया में रोशन कर सकें।

Top Stories