Monday , November 20 2017
Home / India / देश के लोग सिर्फ़ एक अहंकारी शख्स की वजह से अपना रोज़गार खो रहे हैं : रॉबर्ट वाड्रा

देश के लोग सिर्फ़ एक अहंकारी शख्स की वजह से अपना रोज़गार खो रहे हैं : रॉबर्ट वाड्रा

नई दिल्ली : मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा ने निशाना साधा| इससे पहले रॉबर्ट वाड्रा ने नोटबंदी पर सवाल उठाए थे|  उन्होंने नोटबंदी से परेशान लोगों का हवाला देते हुए कहा कि कब तक मोदी सरकार खुद को सही साबित करने के लिए देश के लोगों पर एक्सपेरिमेंट करती रहेगी|

वाड्रा ने कहा कि लोग ठंड में अपने ही कमाए पैसे निकालने के लिए बैंकों और एटीएम के बाहर लंबी लाइनों में लगे हैं | उन्होंने कहा कि अब तो एक महीने से ज्यादा हो चुका है| नोटबंदी के कारण हो रहीं मौतों पर भी रॉबर्ट वाड्रा ने मोदी सरकार को घेरा|  उन्होंने कहा कि एक लड़की ने सिर्फ इसलिए सुसाइड कर लिया क्योंकि वह बैंक से पैसे नहीं निकाल पाई। उसे अपनी कॉलेज की फीस भरनी थी | उन्होंने कहा कि लाइन में लगे हुए एक शख्स की मौत हो गई, लेकिन कोई उसकी मदद के लिए आगे नहीं आया|  ऐसी कितनी ही दिल दहला देने वाली कहानियां हैं|
वाड्रा ने कहा कि पहले कहा गया कि इसके ज़रिये आतंकवाद खत्म किया जा रहा है फिर कालाधन | अब कैशलेश सोसाइटी  बनाने के लिए कहा जा रहा है | उन्होंने कहा कि इससे लोग बहुत परेशान हैं उन्हें बहुत परेशानी हो रही है | वाड्रा ने कहा कि सिर्फ एक अहंकारी शख्स के काल्पनिक मकसद को पूरा करने के लिए लोग अपना रोज़गार खो रहे हैं |
वाड्रा ने कहा कि अब तो लोग एक बार में सिर्फ़ 5000 तक के नोट 30 दिसंबर तक ही जमा कर पाएंगे वह भी स्पष्टीकरण के साथ|फेसबुक पोस्ट में वाड्रा ने  लिखा कि मोदी सरकार के इस फैसले ने वित्तीय संस्थानों को पूछताछ कार्यालयों में तब्दील कर दिया है|
गौरतलब है कि मोदी सरकार ने सोमवारको  कालेधन पर सख्त होते हुए कहा था कि कोई भी शख्स पुरानी करंसी में 30 दिसंबर तक 5000 तक की राशि जमा कर सकता है |  लेकिन उसने अब तक वह उसे यह भी बताना होगा |  वाड्रा ने कहा कि सरकार की सनक के कारण लोगों को हो रही परेशानियां देखकर दुख होता है|

 

TOPPOPULARRECENT