Thursday , June 21 2018

देश को बाहर के लोगों से नहीं नहीं अंदर के लोगों से खतरा है- योगी

‘देश को बाहरियों से नहीं बल्कि अंदर के लोगों से खतरा है, क्योंकि अंदर बैठे लोग जाति के आधार पर लोगों को बांट रहे हैं। इसके साथ ही कुछ ऐसे तत्व भी हैं जो देश को विभाजित करने भी की साजिश रच रहे हैं। हमें ऐसे लोगों से सावधान रहना होगा।’ यह बात रविवार को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कही।

मंगल पांडेय के 161वें बलिदान दिवस के अवसर पर द हिन्दू फाउंडेशन की ओर से ‘पैट्रियॉटिज्म इन इंडिया’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें देश के अमर शहीद मंगल पांडेय, भगत सिंह, चंद्र शेखर आजाद, अशफाक उल्ला खां समेत कई शहीदों के वंशजों ने शिरकत की। इस मौके पर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पीएम मोदी  ने संकल्प से सिद्धी के माध्यम से ऐसे भारत का निर्माण करने का सपना देखा है, जहां जातिवाद, भष्ट्राचार, आंतकवाद, नक्सलवाद न हो। यही देश के शहीदों के लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी। वर्तमान सरकार ने सैनिक स्कूल का नाम कैप्टन मनोज पांडेय के नाम से रखकर शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि दी है। इस मौके पर उन्होंने अमर शहीदों के वंशजों को भी सम्मानित किया।

वैधानिक सूची बनाने की मांग 
शहीद भगत सिंह के वंशज यादवेंद्र सिंह संधू ने कहा कि देश को आजाद हुए 70 साल हो गए हैं, लेकिन आज तक शहीदों की वैधानिक सूची नहीं बनाई गई। उन्होंने योगी सरकार से शहीदों की वैधानिक सूची बनाने की मांग की है। साथ ही राष्ट्रीय संग्राहलय बनवाने की भी अपील की है।

TOPPOPULARRECENT