देश भर में सवा दो करोड़ राशन कार्ड नकली

देश भर में सवा दो करोड़ राशन कार्ड नकली
Click for full image

नई दिल्ली: देश के किसी भी नागरिक की पहचान करने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज माने जाने वाले राशन कार्ड कितने असली हैं, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उनके डीजिटलाईज़ेशन के दौरान दो करोड़ 16 लाख राशन कार्ड नकली पाए गए है| सारनिन मामलों के राज्य मंत्री सी आर चौधरी ने लोकसभा में आज एक पक्ष सवाल कि राशन कार्डों का डीजिटलाईज़ेशन किया जा रहा है और इस दौरान दो करोड़ 16 लाख राशन कार्ड नकली पाए गए हैं।

उन्होंने कहा कि इन सभी राशन कार्डों को अस्वीकार कर दिया गया है और इससे 13 हजार करोड़ गरीब लोगों को लाभ हुआ है। उनके राशन कार्ड के जरिए वितरित किए जाने वाला राशन गरीबों को मिले गा.ानाों कहा कि राशन कार्ड को आधार कार्ड से भी जोड़ा जा रहा है और राज्यों में इस पर विशेष जोर दिया जा रहा है। देश में अब तक लगभग 60 प्रतिशत राशन कार्डों को आधार से जोड़ा जा चुका है।

Top Stories