Friday , September 21 2018

देसी साख़ता क्रूज़ मीज़ाईल निर्भया की आज़माईशी परवाज़

हिन्दुस्तान‌ ने आज देसी साख़ता न्यूक्लीयर सलाहीयत के हामिल सब सोनिक क्रूज़ मीज़ाईल निर्भया की आज़माईशी परवाज़ कामयाबी से मुकम्मल की। ये मीज़ाईल 700 किलो मीटर से ज़्यादा फ़ासले तक वार करसकता है। उसे बलसोर के क़रीब चांदी पर टेस्ट‌ रेंज से रव

हिन्दुस्तान‌ ने आज देसी साख़ता न्यूक्लीयर सलाहीयत के हामिल सब सोनिक क्रूज़ मीज़ाईल निर्भया की आज़माईशी परवाज़ कामयाबी से मुकम्मल की। ये मीज़ाईल 700 किलो मीटर से ज़्यादा फ़ासले तक वार करसकता है। उसे बलसोर के क़रीब चांदी पर टेस्ट‌ रेंज से रवाना किया गया था।

उसको एक मोबाईल लॉंचर के ज़रिये 10.03 बजे दिन रवाना किया गया था उसकी आज़माईशी परवाज़ पूरी तरह कामयाबी के साथ इख़तेताम पज़ीर हुई। मीज़ाईल की परवाज़ का रास्ता 1.13घंटे तवील था सरकारी ज़राए के बमूजब तमाम मतलूबा पैमानों की आज़माईशी परवाज़ के दौरान तकमील होचुकी है।

आज़माईशी परवाज़ के नतीजे की मालूमात के तजज़बा के ज़रिये तौसीक़ करदी गई। आज़माईशी परवाज़ के बारे में मालूमात राडारस और टैली मीटरी प्वाईंटस से हासिल हुई थीं जो रास्तों की निगरानी कररहे थे। ये सब सोनिक तवील मुसाफ़ती क्रूज़ मीज़ाईल निर्भया की दूसरी आज़माईशी परवाज़ थी जिस का दायरा कार 700 से एक हज़ार किलो मीटर तक है।

पहली परवाज़ 12 मार्च 2013 को की गई थी जो मतलूबा पैमानों की तकमील से क़ासिर रही थी क्योंकि परवाज़ को दरमियान में ही रोक देना पड़ा था। मीज़ाईल के मुक़र्ररा रास्ते से इन्हिराफ़ की वजह से ऐसा किया गया था। निर्भया मीज़ाईल में रास्ते से इन्हिराफ़ कर के दुबारा रास्ते पर आने की अच्छी सलाहियत ,अच्छा कंट्रोल और अच्छी रहनुमाई मौजूद है। ये बिलकुल दुरुस्त निशाना लगा सकता है और असर के एतबार से ये इंतेहाई मूसिर है।

TOPPOPULARRECENT