Sunday , June 24 2018

दोनों दरिंदे ने मासूम की इज़्ज़त को तार तार किया

नई दिल्ली, 24 अप्रैल: (पी टी आई) दिल्ली में पाँच साला लड़की की मुबय्यना इजतिमाई इस्मतरेज़ि के दूसरे मुल्ज़िम प्रदीप को यहां की एक मुक़ामी अदालत ने चार दिन के लिए पोलीस तहवील में दे दिया। दिल्ली पुलिस ने कहा है कि वो और इस का साथी मनोज ने कम

नई दिल्ली, 24 अप्रैल: (पी टी आई) दिल्ली में पाँच साला लड़की की मुबय्यना इजतिमाई इस्मतरेज़ि के दूसरे मुल्ज़िम प्रदीप को यहां की एक मुक़ामी अदालत ने चार दिन के लिए पोलीस तहवील में दे दिया। दिल्ली पुलिस ने कहा है कि वो और इस का साथी मनोज ने कमसिन लड़की की इजतिमाई इस्मतरेज़ि की थी।

19 साला प्रदीप को गुज़श्ता रोज़ बिहार में गिरफ़्तार किया गया था और तहवील मुंतक़ली के तहत उस को दिल्ली लाया गया था जिस को अदालत ने 27 अप्रैल तक पुलिस तहवील में दे दिया। पोलीस ने अदालत से दरख़ास्त की थी कि इस वाक़िया की तफ़सीलात को बेनकाब करने के लिए मुल्ज़िम से पूछगिछ की ज़रूरत है।

प्रदीप को इंतिहाई सख़्त तरीन सेक्युरिटी में अदालत पहुंचाया गया, इस के चेहरे पर कपड़ा लपेट दिया गया था जबकि असल मुल्ज़िम मनोज जो अदालती तहवील में है, तहक़ीक़ाती इदारा से कहा कि इस ने नहीं बल्कि प्रदीप ने लड़की की इस्मतरेज़ि की।

पुलिस ने अदालत से कहा कि इन दोनों ने कमसिन लड़की की इस्मतरेज़ि की है। अदालत ने तहक़ीक़ाती एजेंसी से दरयाफ्त किया कि आया दोनों मुल्ज़िमीन ने बच्ची की इस्मतरेज़ि की थी जिस पर पुलिस ने इस बात में जवाब दिया। इस्तिग़ासा ने कहा कि जी हाँ दोनों ने इस बच्ची की इस्मतरेज़ि की अदालत ने कल मनोज की पेशकशी के लिए वारंट जारी किया क्योंकि पुलिस ने कहा कि उस को प्रदीप के मद्द-ए-मुक़ाबिल पेश करने की ज़रूरत है।

प्रदीप को एडीशनल सेशन जज गर्ग के इजलास पर पेश किया गयाक्योंकि वही बच्चों को जिन्सी जराइम से महफ़ूज़ रखने के क़ानून की ख़ुसूसी अदालत के सदारती अफ़सर हैं और इन दोनों को इस क़ानून की मुख़्तलिफ़ दफ़आत के तहत मुल्ज़िम क़रार दिया गया है। इस्तिग़ासा ने प्रदीप को 8 दिन के लिए पुलिस तहवील में देने की दरख़ास्त करते हुए कहा कि इन दोनों की तरफ़ से इस्तेमाल शूदा मोबाईल फोन बरामद करने की ज़रूरत है क्योंकि इस मरहला पर तहकीकात अधूरी हैं और पूछगिछ के दौरान कुछ नए हक़ायक़ मंज़रे आम पर आ सकते हैं।

इस्तिग़ासा ने कहा कि कल मनोज को पुलिस तहवील में लेने की दरख़ास्त की जाएगी जो फ़िलहाल अदालती तहवील में है। प्रदीप को जब अदालती कामपलेक्स से बाहर ले जाया जा रहा था, वुकला और दूसरों ने उस को ढकेल दिया जिस के नतीजा में पुलिस भी ब्रहम हुजूम की ज़द में आगई।

मनोज ने प्रदीप के नाम का इन्किशाफ़ किया था जिस को बिहार के ज़िला लखीसराय के गाँव से पकड़ा गया था।

TOPPOPULARRECENT