Tuesday , June 19 2018

दोनों रियासतों के आज़मीने हज्ज की मुशतर्का रवानगी और वापसी

मर्कज़ी हज कमेटी ने हज सीज़न 2014 के हैदराबाद से रवाना होने वाले दो रियासतों के आज़मीने हज्ज के लिए अलाहिदा अलाहिदा शेडूल तैयार करने से इत्तिफ़ाक़ करलिया है।

मर्कज़ी हज कमेटी ने हज सीज़न 2014 के हैदराबाद से रवाना होने वाले दो रियासतों के आज़मीने हज्ज के लिए अलाहिदा अलाहिदा शेडूल तैयार करने से इत्तिफ़ाक़ करलिया है।

रियासती हज कमेटी ने मर्कज़ी कमेटी से दरख़ास्त की थी के तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के आज़मीने हज्ज के लिए रवानगी और वापसी से मुताल्लिक़ अलाहिदा शेडूल तैयार किया जाये ताकि दोनों रियासतों के आज़मीन की एक साथ रवानगी में सहूलत हो।

चीफ़ एग्जीक्यूटिव ऑफीसर सेंट्रल हज कमेटी अताउलरहमन ने इस सिलसिले में स्पेशल ऑफीसर रियासती हज कमेटी प्रोफेसर एसए शकूर को इत्तेला दी कि वो दोनों रियासतों के आज़मीन के लिए अलाहिदा अलाहिदा शेडूल की तैयारी में मसरूफ़ हैं और बहुत जल्द ये काम मुकम्मिल करलिया जाएगा।

मुत्तहदा आंध्र प्रदेश की तक़सीम के बावजूद हज कमेटी से दोनों रियासतों के आज़मीने हज्ज एक साथ रवाना होरहे हैं चूँकि तक़सीम से पहले ही आज़मीन से दरख़ास्तें तलब करली गई थीं लिहाज़ा क़ुरआ अंदाज़ी में मुत्तहदा रियासत के मुताबिक़ आज़मीन का इंतिख़ाब किया गया और रवानगी-ओ-वापसी का शेडूल भी मुशतर्का रियासत के एतेबार से तैयार किया गया था।

दोनों रियासतों के आज़मीने हज्ज की एक साथ रवानगी और मक्का और मदीना में एक ही साथ क़ियाम की सहूलत फ़राहम करने के लिए स्पेशल ऑफीसर प्रोफेसर एसए शकूर ने तजवीज़ पेश की कि दोनों रियासतों के लिए अलाहिदा शेडूल तैयार किया जाये।

इस तरह आज़मीन और उनके रिश्तेदारों को भी हैदराबाद आमद में सहूलत होगी। आम तौर पर आज़मीन को विदा करने के लिए सियासी क़ाइदीन मौजूद रहते हैं लिहाज़ा अलाहदा शेडूल की तैयारी से दोनों रियासतों के क़ाइदीन को अपनी रियासत के आज़मीन को विदा करने में भी सहूलत होगी।

इसी दौरान तेलंगाना में हज कमेटी की तशकील में ताख़ीर होसकती है और हज सीज़न के इख़तेताम तक हज कमेटी की तशकील का इमकान नहीं है हालाँकि हुकूमत ने हज कमेटी की तक़सीम का अमल मुकम्मिल करलिया है।

आंध्र प्रदेश से ताल्लुक़ रखने वाले मुस्लिम अरकाने असेंबली ने चीफ़ सेक्रेटरी तेलंगाना से मुलाक़ात करते हुए ख़ाहिश की के तेलंगाना हज कमेटी की तशकील की सूरत में कमेटी में आंध्र प्रदेश से ताल्लुक़ रखने वाले अफ़राद को नुमाइंदगी दी जाये।

चूँकि हज कमेटी से तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के आज़मीन एक साथ रवाना होरहे हैं लिहाज़ा आंध्र के अरकान असेंबली चाहते हैं कि उनकी रियासत को भी तेलंगाना की कमेटी में नुमाइंदगी दी जाये। ये फाईल हुकूमत ने महिकमा अक़लियती बहबूद को रवाना करदी है।

बताया जाता हैके तेलंगाना हुकूमत आंध्रई अरकान की इस तजवीज़ से इत्तेफ़ाक़ नहीं रखती क्युंकि हज कमेटी की तक़सीम के बाद दोनों रियासतों को अलाहिदा कमेटीयों की तशकील का इख़तियार हासिल है। आंध्र प्रदेश की हुकूमत अगर चाहे तो वो फ़ौरी तौर पर अपनी कमेटी तशकील देने के लिए आज़ाद है।

TOPPOPULARRECENT