Saturday , December 16 2017

दो जून को आंध्र प्रदेश में सदर राज की बर्ख़ास्तगी

मुत्तहदा आंध्र प्रदेश में नाफ़िज़ सदरराज 2 जून को जुज़वी तौर पर बरख़ास्त कर दिया जाएगा ताकि टी आर एसके सदर के चन्द्र शेखर राव‌ को नई रियासत तेलंगाना के पहले चीफ़ मिनिस्टर की हैसियत से हलफ़ लेने का मौक़ा फ़राहम किया जा सके।

मुत्तहदा आंध्र प्रदेश में नाफ़िज़ सदरराज 2 जून को जुज़वी तौर पर बरख़ास्त कर दिया जाएगा ताकि टी आर एसके सदर के चन्द्र शेखर राव‌ को नई रियासत तेलंगाना के पहले चीफ़ मिनिस्टर की हैसियत से हलफ़ लेने का मौक़ा फ़राहम किया जा सके।

लेकिन तक़सीम के बाद बाक़ी बच जाने वाली रियासत आंध्र प्रदेश (सीमांध्र ) में ये सदरराज 8 जून तक जारी रहेगा जब तेलुगु देशम के सरबराह एन चंद्राबाबू नायडू बहैसीयत चीफ़ मिनिस्टर अपने ओहदे का हलफ़ लेंगे।

2 जून को रियासत की आसान और पुरसकोन अंदाज़ में तक़सीम को यक़ीनी बनाने के लिए मर्कज़ी वज़ारत-ए-दाख़िला और हुकूमत आंध्र प्रदेश की तूफ़ानी सरगर्मीयां जारी हैं।

तेलंगाना में नाफ़िज़ सदर राज की बरख़ास्तगी के लिए 2 जून की सुबह तवक़्क़ो हैके एक आलामीया जारी किया जाएगा जिस के बाद के चन्द्र शेखर राव‌ मुल्क की 29 वीं रियासत के पहले चीफ़ मिनिस्टर की हैसियत से ओहदा का हलफ़ लेंगे।

आलामीया में इस बात की वाज़िह भी की जाएगी कि माबक़ी आंध्र प्रदेश में 8 जून को चंद्राबाबू नायडू के बहैसीयत चीफ़ मिनिस्टर हलफ़ लेने तक सदरराज बदस्तूर जारी रहेगा।

TOPPOPULARRECENT