दो से ज्यादा बच्चे पैदा करने वालों को न मिले मताधिकार का हक़ : बाबा रामदेव

दो से ज्यादा बच्चे पैदा करने वालों को न मिले मताधिकार का हक़ : बाबा रामदेव

योग गुरू बाबा रामदेव ने कहा कि दो से ज्यादा बच्चे पैदा करने वालों को मतदान का अधिकार नहीं मिलना चाहिए। वर्तमान में राजनीति असहिष्णुता के शिखर पर है। पीएम नरेन्द्र मोदी के साथ देश की सबसे शक्तिशाली पार्टी है।

स्वर्ण जयंती नगर में बुधवार को पतंजलि ,परिधान, के शोरूम के उद्घाटन के मौके पर उन्होंने कहा कि कपड़ों की इस चेन में इंडो वेस्टर्न, शादी विवाह, छोटे बड़े से लेकर जिंदगी की जरूरत का हर परिधान उपलब्ध है। हमने सात लाख करोड़ रुपये के बाजार में हाल ही एंट्री की है। आजादी के 70 वर्षों में हमने राजनीतिक आजादी तो हासिल कर ली, लेकिन आर्थिक आजादी अभी बाकी है। इसके लिए हम जमीन पर उतरकर काम कर रहे हैं। जनसंख्या नियंत्रण पर कहा कि यदि कोई दो से अधिक संतान करता है तो उसे सरकारी सुविधाओं से वंचित रखने के साथ ही मतदान का अधिकार भी नहीं देना चाहिए।

बाबा ने कहा कि पिछले कई दिनों से जीवन से राजनीति को डिलीट किया हुआ है। देश में इस समय राजनीति घमासान मचा हुआ है। दोनों तरफ धुरंधर मैदान में हैं। हार-जीत किसी की भी हो, लेकिन चुनाव जबरदस्त होगा। चुनाव में राजनीतिक दलों का उद्देश्य राष्ट्र निर्माण के साथ ही देश के विकास की बात भी होनी चाहिए। लेकिन, आज राजनीतिक दल जातीय मुद्दे उठाकर और एक दूसरे पर छींटाकशी कर राजनीति की गरिमा भूल रही हैं। बाबा ने कहा कि कालेधन पर आवाज उठाने पर अंकुश नहीं लगा है। मामला फिलहाम पीएम मोदी पर छोड़ दिया गया है। राम मंदिर के लिए जितनी जोर से आवाज उठाई जा रही है, उसी तरह सरकार को भी काम करना चाहिए।

गुणों के आधार पर हनुमान जी हैं ब्राह्मण
शास्त्रों में भगवान हनुमान की जाति का कोई उल्लेख नहीं है, लेकिन गुणऔर कर्म के आधार पर वह ब्राह्मण हैं। वेदों के ज्ञाता हैं। भारतीय संस्कृति के मूल में जन्म के आधार पर जाति की व्यवस्था नहीं है, बल्कि कर्म इसका आधार है। वह योद्धा हैं, इसलिए क्षत्रिय हैं। जन्म से सभी शूद्र होते हैं, लेकिन भारतीय संस्कृति के मूल में धर्म ही आधार है।

पतंजलि की बनेगी वैदिक यूनिवर्सिटी
बाबा रामदेव ने कहा कि वैदिक शिक्षा पद्धति को बढ़ावा देने के लिए पीएम नरेन्द्र मोदी सहित केन्द्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से बोर्ड के गठन की मांग की थी। जिस पर जल्द ही फैसला आ सकता है। इसके बाद पतंजलि की वैदिक यूनिवर्सिटी बनेगी। बोर्ड के गठन के बाद हम विदेशी भाषा, चिकित्सा, सभ्यता, संस्कारों की गुलामी की जंजीरों से मुक्त कर सकेंगे।

ये कांग्रेस के अंदर की बात है
प्रियंका गांधी को कांग्रेस महासचिव बनाने पर कहा कि ये कांग्रेस के अंदर की बात है। यहां राजनीति की जंग होती है तो अखाड़े में पहलवान मजबूत होने चाहिए, तभी जीत व हार में मजा आता है।

स्वदेशी उत्पादों की ब्रांडिंग करे सरकार
योग गुरु ने कहा कि स्वदेशी सपनों में हुआ करता था, लेकिन अब उसे हमने जमीन पर उतारा है। आर्थिक ताकतें चीन, अमेरिका, जापान, रूस, कोरिया अपने-अपने देशों में बने उत्पादों को महत्व ही नहीं देते, बल्कि वहां के राष्ट्रीय अध्यक्ष कंपनियों की पैरोकारी भी करते हैं। भारत सरकार को भी स्वदेशी उत्पादों की ब्रांडिंग करनी चाहिए।

मुसलिमों को भ्रम से बाहर आना चाहिए
पतजंलि एक लाख से अधिक गायों की सुरक्षा के साथ ही भारत माता व मानवता को बचा रही है।  मुस्लिम समुदाय में आज भ्रम की स्थिति फैली हुई है कि बाबा अपने हर उत्पाद में गो मूत्र का प्रयोग करते हैं, लेकिन उन्हें यह भ्रम दूर करना होगा। क्योंकि आटा, बेसन सहित अन्य उत्पादों में गौ मूत्र का उपयोग नहीं होता।

राष्ट्रीय ध्वज पर कोई उन्माद नहीं होना चाहिए
एएमयू में तिरंगा यात्रा निकाले जाने पर छात्रों को जारी किए गए नोटिस पर बाबा ने कहा कि राष्ट्रीय ध्वज हमारे सम्मान का प्रतीक है, हमारी आन-बान और शान है। राष्ट्रीय ध्वज को लेकर कोई उन्माद नहीं फैलानी चाहिए।

Top Stories