दौरा चीन के बाद वज़ीर-ए‍-ख़ारिजा वापिस

दौरा चीन के बाद वज़ीर-ए‍-ख़ारिजा वापिस
बीजिंग

बीजिंग

वज़ीर-ए‍-ख़ारिजा सुषमा स्वराज अपने चार रोज़ा दौरा चीन के बाद वतन वापिस होगईं। उन्होंने सदर चीन झ़ी जिनपिंग से मुलाक़ात की जिस में सदर चीन ने भरपूर एतिमाद ज़ाहिर किया कि हिंद – चीन ताल्लुक़ात नए साल के दौरान नई पेशरफ़त करेंगे। सुषमा स्वराज ने वज़ीर-ए‍-ख़ारिजा चीन वांग ई से भी कलीदी मसाइल पर बातचीत और सरहद पर अमन बरक़रार रखने की ज़रूरत पर ज़ोर दिया।

आला सतही क़ियादत के अलावा उन्होंने रूस और चीन के वुज़राए ख़ारिजा से भी मुलाक़ातें कीं। रूस और चीन ने हिन्दुस्तान को एशयाए कूच मआशी तआवुन तंज़ीम का रुकन बनाने की ताईद की। सुषमा स्वराज ने चीनी सरमाया कारों और हिन्दुस्तानी बिरादरी के अरकान से भी तबादला-ए-ख़्याल किया।

उन्होंने कहा कि उन के दौरा का मक़सद वज़ीर-ए-आज़म मोदी के माह मई में दौरा-ए-चीन की राह हमवार करना है। सदर चीन ने तवक़्क़ो ज़ाहिर की कि वो वज़ीर-ए-आज़म मोदी को अपने आबाई सूबा शानग झ़ी लीजाएं गे और तारीख़ी शहर झ़यान का दौरा भी करवाईंगे जो क़दीम बुध मत के दौर से हिन्दुस्तान से ताल्लुक़ात रखता है।

Top Stories