Thursday , December 14 2017

दौलते इस्लामीया के ख़िलाफ़ लड़ने के ख़ाहिशमंद की ज़मानत मंज़ूर

शिद्दत पसंद तंज़ीम दौलते इस्लामीया के ख़िलाफ़ लड़ाई में कुर्द फ़ोर्सेस का साथ देने के लिए इराक़ जाने के कोशिश करने के इल्ज़ाम में गिरफ़्तार ऑस्ट्रेलवी शहरी को ज़मानत मिल गई।

28 साला जिमी विलियम्स को दिसंबर में मेलबर्न के हवाई अड्डे पर उस वक़्त रोक लिया गया था जब वो क़तर जाने वाली परवाज़ में सवार होने की कोशिश कर रहे थे।

उन्होंने हुक्काम को बताया था कि उनकी आख़िरी मंज़िल शुमाली इराक़ है। विलियम्ज़ ने जुमेरात को मेलबर्न की एक अदालत को बताया कि वो अपनी फ़ौजी तर्बीयत को आज़माना चाहते थे। ऑस्ट्रेलवी अख़बार हेराल्ड सन के मुताबिक़ विलियम्स ने मुबैयना तौर पर लिखा कि मैं वहां फ़ाइदा मंद साबित हो सकता हूँ।

TOPPOPULARRECENT