धमाकों से दहला मिस्र, पांच की मौत

धमाकों से दहला मिस्र, पांच की मौत
जुमे के रोज़ मिस्र एक खुदकश हमले समेत तीन बम धमाकों से दहल गया। इन धमाको में पांच लोग मारे गए और तकरीबन सौ लोग ज़ख्मी हो गए। 2011 की आवामी इंकलाब की तीसरी सालगिरह के मौके पर पर इन हमलों को अंजाम दिया गया।

जुमे के रोज़ मिस्र एक खुदकश हमले समेत तीन बम धमाकों से दहल गया। इन धमाको में पांच लोग मारे गए और तकरीबन सौ लोग ज़ख्मी हो गए। 2011 की आवामी इंकलाब की तीसरी सालगिरह के मौके पर पर इन हमलों को अंजाम दिया गया।

वज़ारत ए दाखिला और हेल्थ मिनिस्ट्री के ओहदेदारों ने बताया कि पहला ताकतवर धमाका एक खुदकश हमलावर ने किया। उसने धमाका खेज़ मवाद से भरे गाड़ी को काइरो सेक्युरिटी डायरेक्ट्रेट की दीवार से टकरा दिया। इस दौरान हुए शदीद धमाको में चार लोग मारे गए जबकि 76 ज़ख्मी हो गए। दूसरा धमका गीजा में हुआ। हमलावरों ने यहां के एक मेट्रो स्टेशन के नज़दीक पुलिस की गाड़ी पर बम फेंका।

धमाके में एक शख्स के मरने और 11 लोगों के ज़ख्मी होने की खबर है। जबकि तीसरा धमाका गीजा के पिरामिड के पास वाकेय् एक पुलिस स्टेशन में हुआ। वज़ारत ए दाखिला के एक आफीसर के मुताबिक इसमें कोई हताहत नहीं हुआ।

Top Stories