धर्माना और सबिता ने दिये इस्तीफे

धर्माना और सबिता ने दिये इस्तीफे
हैदराबाद, 20 मई- जगन की बेहिसाब दौलत के मामले में सीबीआई की चार्जशीट में नाम शामिल होने के बाद मंत्री धर्माना प्रसाद राव और सबिता इन्द्रा रेड्डी ने आज देर रात अपने ओहदों से इस्तीफा दे दिया। इन इस्तीफों को मंज़ूरी पर एक-दो दिन में फैस

हैदराबाद, 20 मई- जगन की बेहिसाब दौलत के मामले में सीबीआई की चार्जशीट में नाम शामिल होने के बाद मंत्री धर्माना प्रसाद राव और सबिता इन्द्रा रेड्डी ने आज देर रात अपने ओहदों से इस्तीफा दे दिया। इन इस्तीफों को मंज़ूरी पर एक-दो दिन में फैसला ले लिया जाएगा। दोनों वज़ीर चीफ मिनिस्टर एन. किरण कुमार रेड्डी को अपना इस्तीफा सौंपने के बाद मीडिया से बातचीत किये बिना ख़ानगी गाडियों में चले गये। बताया जाता है कि किरण कुमार रेड्डी कल सुबह गवर्नर से मुल़ाकात करेंगे। हालाँकि मंत्रियों के इस्तीफे से मुताल़ुक इत्तेल्ला की तौस़ीक सीएम के दप्तर ने नहीं की है।

दिल्ली में पार्टी हाईकमान से बातचीत कर हैदराबाद लौटे किरण कुमार रेड्डी ने दाग़ी वज़ीरों के मुस्त़कबिल पर पर्दा डाले रखा था। बताया जाता है कि शनिचर की देर रात उन्होंने धर्माना को फोन कर हैदराबाद आने के लिए कहा था। इसी तरह आज शाम सबिता इन्द्रा रेड्डी को फोन कर आने के लिए कहा गया। ज़राए के मुताब़िक धर्माना आज रात विशाखापट्टनम से हैदराबाद पहुँचने के बाद सीएम कैम्प ऑफिस में मिलने वाले थे, लेकिन सीएओ के ओहदेदारों ने उन्हें हवाईअड्डे पर जुबली हिल्स के मकान पहुंचने के लिए कहा। इसके बाद दोनों वज़ीर ख़ानगी गाडियों में सीएम के घर पहुँचे।

लगभग 1 घण्टा चली बैठक में धर्माना और सबिता ने आलाकमान के रवैये के साथ-साथ कुछ वरिष्ठ कांग्रेसियों की बयानबाजी पर एतेराज़ जताया। उन्होंने कहा कि हमने पहले ही इस्तीफे दे दिये थे, अगर उन्हें उसी समय मंज़ूर कर लिया गया होता तो बेहतर होता। अब इस्तीफे माँगना उनके बेइज्जती के जैसा है। इस तरह उन्हें अवाम के सामने गुनाहगार बना कर खड़ा किया जा रहा है। बताया जाता है कि किरण कुमार रेड्डी ने दोनों को समझाने की कोशिश की, लेकिन वे इस बात पर अड़े रहे कि उन्हें राजनीति की बिसात पर बली का बकरा बनाया गया है।

Top Stories